मलिक की बर्खास्तगी की मांग पर राउत बोले- इस्तीफा स्वीकार या खारिज करना मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार

img

मुंबई, शुक्रवार, 25 फरवरी 2022। धन शोधन के एक मामले में गिरफ्तार किए गए महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक को बर्खास्त करने की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मांग के बीच शिव सेना नेता संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि मंत्रिमंडल के अपने किसी सहयोगी का इस्तीफा स्वीकार करना या अस्वीकार करना मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का विशेषाधिकार है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक कार्य मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता नवाब मलिक (62) को धन शोधन के एक मामले की जांच के सिलसिले में बुधवार को गिरफ्तार किया था। मलिक को धन शोधन से जुड़े मामलों की सुनवाई करने वाली एक विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया, जिसने उन्हें तीन मार्च तक के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में भेज दिया।

मलिक की गिरफ्तारी के बाद से भाजपा उन्हें मंत्रिमंडल से हटाने की मांग कर रही है, लेकिन सत्तारूढ़ पार्टी ने इससे इनकार कर दिया है। महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की गठबंधन सरकार है। विपक्षी दल की मांग पर राउत ने पत्रकारों से कहा, केंद्र की सत्ता पर काबिज भाजपा राजनीतिक फायदे के लिए केन्द्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग करती है और उसके जरिए हमारे मंत्रियों को गिरफ्तार करवाती है और फिर उनके इस्तीफे की मांग करते हुए प्रदर्शन करती है। यह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का विशेषाधिकार है कि वह इस्तीफा स्वीकार करें या अस्वीकार। राज्यसभा सांसद ने कहा, जैसे भाजपा राजनीति कर रही है, हम भी कुछ राजनीतिक कदम उठाएंगे।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement