दो हजार किलोमीटर रेल मार्ग होगा कवच से लैस, बनेंगी 400 नयी वंदे भारत ट्रेनें

img

नई दिल्ली, मंगलवार, 01 फरवरी 2022। आम बजट 2022-23 में भारतीय रेलवे को प्रगति के पथ में आगे बढ़ाने की एक महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा की गयी है जिसमें दो हजार किलोमीटर रेलवे लाइन को स्वदेशी संरक्षा एवं क्षमता संवर्द्धन तकनीक कवच से लैस करने और वंदे भारत श्रेणी की नयी पीढ़ी की 400 ट्रेनें लाने की बात शामिल है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में आज यहां आम बजट 2022-23 में अर्थव्यवस्था के सात इंजनों में गतिशक्ति के तहत रेलवे के प्रस्तावों का उल्लेख करते हुए कहा कि रेलवे नये उत्पादों को विकसित करने के साथ ही छोटे किसानों और लघु एवं मध्यम उद्योगों के लिए किफायती लॉजिस्टिक सेवाएं शुरू करेगी तथा डाक एवं रेल सेवाओं के समन्वय से पार्सल भेजने की व्यवस्था को आसान एवं तेज बनाया जाएगा।

श्रीमती सीतारमण ने कहा कि स्थानीय व्यापार एवं आपूर्ति श्रृंखलाओं की मदद के लिए "एक स्टेशन एक उत्पाद" की अवधारणा को को लोकप्रिय बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत अगले वित्त वर्ष में करीब दो हजार किलोमीटर रेलवे ट्रैक को स्वदेशी विश्वस्तरीय संरक्षा तकनीक कवच से लैस किया जाएगा जिससे रेलमार्ग की क्षमता भी बढ़ेगी। वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि वंदे भारत श्रेणी की नयी पीढ़ी की 400 ट्रेनें बनायीं जाएंगी जिनमें ऊर्जा दक्षता अधिक होगी और यात्रियों को बेहतर अनुभव मिलेगा। इनका निर्माण अगले तीन वर्षों में किया जाएगा। श्रीमती सीतारमण ने कहा कि अगले तीन वर्षों में मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स सुविधाओं से युक्त सौ पीएम गतिशक्ति कार्गाे टर्मिनलों को विकसित किया जाएगा।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement