कमजोर है आंखों की रोशनी तो रोज करें ये योगासन

img

आज के समय में सिस्टम पर काम करते हुए, मोबाइल चलाते हुए लोगों की आँखों पर काफी असर होता है और इसके चलते आँखे खराब होती जा रही है। वहीं कई लोगों की आँखों की रौशनी कम हो गई है जिसके चलते उन्हें चश्मा लग गया है। ऐसे में अगर आप भी इसी लिस्ट में शामिल है तो कुछ योग है जिन्हे करके आपको फायदा मिल सकता है। आइए हम आपको बताते हैं उन योग के बारे में।

चक्रासन - अपनी पीठ के बल लेट जाएं। उसके बाद अपने पैरों को अपने घुटनों पर मोड़ें और सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श पर मजबूती से टिके हुए हैं। अब अपनी हथेलियों को आकाश की ओर रखते हुए अपनी हाथों को कोहनियों पर मोड़ें। इसके बाद अपनी बाहों को कंधों पर घुमाएं और अपनी हथेलियों को अपने सिर के दोनों ओर फर्श पर रखें। अब श्वास लें अपनी हथेलियों और पैरों पर दबाव डालें और अपने पूरे शरीर को एक आर्च बनाने के लिए ऊपर उठाएं। अब पीछे देखें और अपनी गर्दन को आराम दें क्योंकि आप अपने सिर को धीरे से पीछे की ओर करते हैं। इस दौरान कुछ देर इस मुद्रा में रहें और फिर वापस उसी स्थिति में लौट आएं।

हलासन - इसके लिए अपनी पीठ के बल लेट जाएं। अपनी हथेलियों को अपने शरीर के बगल में फर्श पर रखें। अपने पेट की मांसपेशियों का इस्तेमाल करते हुए, अपने पैरों को 90 डिग्री ऊपर उठाएं। अब इसके बाद अपनी हथेलियों को फर्श पर मजबूती से दबाएं और अपने पैरों को अपने सिर के पीछे जाने दें। अपने पैर की उंगलियों को पीछे छूने के लिए अपने मध्य और निचले हिस्से को फर्श से ऊपर उठने दें। अब अपनी छाती को जितना हो सके अपनी ठुड्डी के करीब लाने की कोशिश करें। इस दौरान कुछ देर इस मुद्रा में रहें फिर वापस अपनी स्थिति में लौट आएं।

बकासन - इसके लिए मार्जरीआसन में शुरू करें। आगे झुकें और अपनी हथेलियों को अपने पैरों के सामने सपाट रखें लेकिन इनसे थोड़ा दूर। आपकी उंगलियां आगे की ओर होनी चाहिए। इसके बाद अपनी कोहनियों को सीधा रखें और अपने घुटनों को जितना हो सके बगल के पास रखें। इस तरह आगे झुकें कि आपके शरीर का सारा भार आपके हाथों पर आ जाए। संतुलन बनाएं और धीरे-धीरे अपने दोनों पैरों को जमीन से ऊपर उठाएं। अब अपने पैरों को एक साथ लाएं। अपनी हाथों को जितना हो सके सीधा करें। इस दौरान कुछ देर इस मुद्रा में रहें फिर वापस उसी स्थिति में लौट आएं।

सर्वांगासन - इसके लिए अपनी पीठ के बल लेटकर शुरुआत करें। अपनी हाथों को अपने शरीर के बगल में रखें। धीरे-धीरे अपने पैरों को फर्श से उठाएं और इन्हें फर्श पर लंबवत रखें और पैरों को आकाश की ओर रखें। अब आप धीरे-धीरे अपने श्रोणि को ऊपर उठाएं और फर्श से पीछे हटें। अपने हाथों को फर्श से उठाएं और अपनी हथेलियों को अपनी पीठ पर रखें। इसके बाद अपने कंधे, धड़, श्रोणि, पैरों के बीच एक सीधी रेखा प्राप्त करने की कोशिश करें। अपनी ठुड्डी को अपनी छाती से छूने की कोशिश करें और अपनी आंखों को अपने पैरों की ओर केंद्रित करें।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement