ओमीक्रोन का पता लगाने के लिए दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमितों के नमूनों का जीनोम अनुक्रमण शुरू

img

नई दिल्ली, बुधवार, 22 दिसम्बर 2021। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस से संक्रमित सभी लोगों के नमूनों का जीनोम अनुक्रमण बुधवार को शुरू कर दिया गया ताकि यह पता लगाया जा सके कि ओमीक्रोन स्वरूप का संक्रमण किस स्तर तक फैला है।  राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के रोजाना करीब 100 से 125 मामले सामने आ रहे हैं और उसके पास रोज 400 से 500 नमूनों के जीनोम अनुक्रमण की क्षमता है।

जैन ने कहा, ‘‘यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान और लोक नायक अस्पताल में दिल्ली सरकार द्वारा संचालित प्रयोगशालाएं प्रतिदिन 100 नमूनों का अनुक्रमण कर सकती हैं। दिल्ली में केंद्र द्वारा संचालित दो प्रयोगशालाएं एक दिन में 200-300 नमूनों का अनुक्रमण कर सकती हैं, यानी एक दिन में 400-500 नमूनों का विश्लेषण किया जा सकता है।’’ उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘रोजाना करीब 100 से 125 नए मामले सामने आ रहे हैं… कोविड-19 के सभी मरीजों के नमूनों का अनुक्रमण बुधवार से आरंभ होगा। इसके जरिए हम यह पता लगा पाएंगे कि समाज में इसके (ओमीक्रोन के) कितने मामले हैं। अभी तक (ओमीक्रोन से संक्रमण के) अधिकतर मामले विदेशों से आए हैं।’’

इससे पहले जैन ने मंगलवार को कहा था कि यहां लोक नायक अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित 34 मरीजों में से तीन ने हाल में कोई यात्रा नहीं थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मंगलवार को उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, राजधानी में ओमीक्रोन मामलों की संख्या बढ़कर 54 हो गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की एक बैठक के बाद घोषणा की थी कि सभी संक्रमित रोगियों के नमूने जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे जाएंगे। जैन ने कहा कि सरकार क्रिसमस और नववर्ष की पूर्व संख्या पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में लोगों की भीड़ रोकने के लिए कदम उठाएगी।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement