विनोद राय देश की जनता से भी माफी मांगे- पवन खेड़ा

img

नई दिल्ली, शुक्रवार, 29 अक्टूबर 2021। कांग्रेस ने पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) विनोद राय को कठपुतली करार देते हुए कहा कि सीबीआई ने ही साफ कर दिया कि कोल मामले में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की कोई भूमिका नहीं थी। विनोद राय को देश की जनता से भी माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता कर कहा कि पूर्व सीएजी विनोद रॉय का पदार्फाश हुआ, 21 दिसम्बर को सीबीआई कोर्ट का फैसला आया। जिसके बाद विनोद राय ने भी स्वीकार कर लिया कि उन्होंने देश से झूठ बोला, विनोद रॉय ने कांग्रेस नेता संजय निरुपम से बिना सर्त माफी मांग ली। ये तमाम लोग जो यूपीए सरकार पर आरोप लगाते रहे आज वो सत्ता भोग रहे हैं।

पवन खेड़ा ने कहा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल केंद्र के साथ मिलकर एक जुगलबंदी की सरकार चला रहे हैं। विनोद राय की रिटायरमेंट के बाद भी तमाम पदों पर उन्हें नियुक्त किया गया। बाबा रामदेव भी इस टीम में शामिल थे, आज वो लाला बन गए हैं, व्यापारी बन गए। यूपीए सरकार पर आरोप लगाने वाली किरण बेदी आज पुड्डुचेरी की राज्यपाल हैं। सभी को लाभान्वित किया गया। उन्होंने कहा, आज देश में लोकपाल कौन है किसी को नहीं पता, लोकपाल ने कौन से फैसले लिए किसी को नहीं पता। जिसके लिए अन्ना आंदोलन हुआ। आज उसकी कोई चर्चा नहीं हो रही। कहा है सीएजी आज-कल क्या कर रही है।

कांग्रेस ने विनोद रॉय को कठपुतली करार देते हुए कहा एक व्यक्ति जो अपनी किताब बेचने के लिए इस तरह के झूठे आरोप लगा सकते हैं सोचिए उन्होंने अपनी सीएजी रहते अपनी रिपोर्ट को किस तरह बनाया होगा। इससे पता चलता है कि वो और क्या-क्या कर सकते हैं। जिस तरह से विनोद राय ने बिना शर्त संजय निरूपम से माफी मांगी। उसी तरह के देश से मांफी मांगे और अपने रिटायर होने के बाद जिन पदों पर सुख सुविधाएं भोगी उन्हें सरकारी खजाने में जमा करा दें।

वहीं प्रशांत किशोर के बयान पर कि इसी तरह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी काम करते रहे, तो बीजेपी लंबे समय तक शासन करेगी। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, जो व्यक्ति खुद साफ नहीं हैं कि वो किस भूमिका में हैं, उन्हें किसी और पर बयान देने, राजनीतिक पाठ पढ़ाने का कोई अधिकार नहीं। प्रशंसा किशोर कंसल्टेंट हैं, उन्हें केवल उसी काम पर फोकस करना चाहिए। जिस पार्टी के कंसलटेंट है उसी के विषय में बात करनी चाहिए। वो सब जगतगुरू बन कर गुरु दक्षिणा लेने की बात कर रहे हैं। अभी वो पर्दे के पीछे से राजनीति करते हैं कभी किसी पार्टी में शामिल हो जाते हैं। पहले वह खुद की भूमिका स्पष्ट कर लें।
 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement