ज्योतिरादित्य सिंधिया ने संभाला नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यभार, इन चुनौतियों का करना होगा सामना

img

नई दिल्ली, शुक्रवार, 09 जुलाई 2021। मोदी सरकार के शामिल किए गए मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यभार संभाल लिया है। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सत्ता वापसी में अहम योगदान देने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार शाम राष्ट्रपति भवन में मंत्री पद की शपथ ली थी। इससे पहले यह जिम्मेदारी हरदीप सिंह पुरी के पास थी। इस मंत्रालय में उन्हें गाजियाबाद के प्रतिनिधि जनरल वीके सिंह का साथ भी मिलेगा।

सिंधिया ने ऐसे समय में मंत्रालय का कार्यभार संभाला है, जब नागरिक उड्डयन क्षेत्र को कोरोना वायरस महामारी के कारण मुश्किल हालात का सामना करना पड़ रहा है। इस क्षेत्र में मांग काफी अधिक प्रभावित हुई है और इसके चलते विमानन कंपनियों को वित्तीय संकट का सामना करना पड़ रहा है। सरकार राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया को भी आगे बढ़ा रही है। खास बात यह है कि 30 साल पहले उनके पिता ने भी यही मंत्रालय संभाला था। बता दें कि ग्वालियर के राजघराने से ताल्लुक रखने वाले सिंधिया पांचवीं बार संसद पहुंचे हैं। उनके पिता दिवंगत माधवराव सिंधिया कांग्रेस के बड़े नेता थे। माधवराव सिंधिया पीवी नरसिम्हा राव की सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री रहे थे। माधवराव सिंधिया ने 1991 से 1993 तक राव सरकार में नागरिक उड्डयन और पर्यटन मंत्रालयों को संभाला था। अब ज्योतिरादित्य अपने पिता की तरह ही नागर विमानन मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालेंगे।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement