यूं करें दांतों की देखभाल, हमेशा बरकरार रहेगी चमक और हंसी

img

किसी भी इंसान का हंसता हुआ चेहरा उसकी सुंदरता में चार चांद लगा सकता है। सोचिए, अगर किसी भी सुंदर व्यक्ति के दांत पीलापन लिए और टूटी-फूटी हालत में होंगे तो उस व्यक्ति की सुंदरता क्षीण हो जाती है। आज के समय में लोग सुंदर बनने के लिए क्या-क्या नहीं करते? सोशल मीडिया पर आजकल अपनी हंसते-खिलखिलाते चेहरे के साथ सैल्फी और फोटोज आदि डालने का चलन है। लोग लाइक्स और शेयर के लिए अपनी सुंदरता को ज्यादा से ज्यादा उभारते हैं। लेकिन चेहरा कितना भी सुंदर हो परन्तु ऊबड़-खाबड़, बेढंग और पीले दांत हों तो बाकी सुंदरता के कोई मायने नहीं रह जाते। इसलिए अगर कहा जाए कि सुंदर दांतों के साथ एक अच्छी मुस्कान सुंदरता की जमा पूंजी है तो अतिश्योक्ति नहीं होगी।?तो आज के इस चकाचौंध भरे दौर में हम अपने दांतों की देखभाल करके उन्हें सुंदर बना सकते हैं और अपनी खूबसूरती में और भी इजाफा कर सकते हैं। 

क्या करें जब दांत खराब हो जाएं 

  • कई बार जब हम दांतों की सही ढंग से सफाई नहीं करते तो दांतों में कीड़ा लगने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। यदि इस ओर ध्यान न दिया जाए तो समस्या दिन-ब-दिन और बढ़ जाती है। मीठे पदार्थो का सेवन करने से इस रोग में और वृद्धि हो जाती है। तेजी से कीटाणु हमारे दांतों में घर कर लेते हैं।?इससे कई बार दांतों पर काले व हल्के भूरे रंग के धब्बे दिखाई देने लगते हैं।?इसे हम कैविटी भी कहते हैं। कैविटी एक बार बनना शुरू हो जाए तो फिर धीरे-धीरे सारे दांतों को अपनी गिरफ्त में ले लेती है। यह दंत रोग धीरे-धीरे असह्य पीड़ा का कारण बन जाते हैं।?

मसूढ़ों के रोग

  • जब मुंह को अंदर से अच्छी तरह से साफ न किया जाए तो मसूढ़े खराब होने से दांतों में खून आना, दांतों को ज्यादा ठंडी या गर्म वस्तुओं के सेवन पर झनझना जाना (सैंसटिविटी) जैसे लक्ष्ण दिखाई देने लगते हैं।?संक्रमण अधिक बढ़ जाने पर मसूढ़े रोगग्रस्त होकर लाल हो जाते हैं।?दांतों के ऊपरी भाग के मास में सूजन आ जाती है।?इससे एक परत दांतों को ढंक लेती है जिसमें हजारों की संख्या में कीटाणु जमा हो जाते हैं।?

दांतों पर दाग-धब्बे

  • चाय, कॉफी, तम्बाकू और अन्य अल्कोहलयुक्त पदार्थो के अधिक सेवन से हमारे दांतों पर दाग पड़ने शुरू हो जाते हैं। आगे चलकर यह दांतों का कैंसर भी बन सकता है। 

जब दांत टूट जाएं

  • किसी भी कारण अगर आपका एक या अधिक दांत टूट जाएं तो अपने नजदीकी दंत रोग विशेषज्ञ से सम्पर्क करना चाहिए। टूटा हुआ दांत कीटाणुओं के लिए घर बनाने की जगह उपलब्ध करवा देता है। टूटा हुआ दांत जहां बैक्टीरिया को जन्म देता है वहीं दांतों की नसों को भी नुक्सान पहुंचा सकता है अर्थात् दांतों का रोग बढ़ने की संभावना बलवती हो जाती है। 

कैसे करें दांतों की देखभाल

  • दिन में दो बार ब्रश जरूर करें। एक बार सुबह नाश्ते से पहले और दूसरी बार रात को सोने से पहले।
  • हमेशा नर्म ब्रिसल्स वाले ब्रश इस्तेमाल करें। सख्त ब्रिसल्स वाले ब्रश दांतों के इनेमल को क्षति पहुंचाते हैं, जिससे दांतों की ऊपरी परत खराब हो जाती है। 
  • जिस टूथपेस्ट में फ्लॉराइड की मात्र हो, उसी का इस्तेमाल करें। इससे दांतों की उम्र बढ़ जाती है। 
  • चाय के स्थान पर ग्रीन टी का इस्तेमाल करें।
  • अगर आपको कॉफी पीने की आदत है तो आप अपने दांतों की चमक के लिए शूगर फ्री च्युइंगम का इस्तेमाल करें।
  • मीठे पेय पदार्थो का इस्तेमाल न ही करें तो बेहतर है क्योंकि इनमें फास्फोरिक एसिड होता है जो दांतों के इनेमल को धीरे-धीरे उतार देता है।?
  • सबसे जरूरी बात यह है कि हर छह माह बाद अपने डैंटिस्ट से सम्पर्क कर सकते हैं।?

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement