प्लास्टिक मुक्त समाज का PM मोदी ने किया आह्वान, कहा- समस्या समय के साथ गंभीर होती जा रही है

img

नई दिल्ली, बुधवार, 11 सितम्बर 2019। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मवेशियों में मुंह एवं खुरपका रोग तथा ब्रूसेलोसिस के उन्मूलन के लिए मथुरा में राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि नए जनादेश के बाद कान्हा की नगरी में पहली बार आने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। इस बार भी पूरे उत्तर प्रदेश का पूरा आशीर्वाद मुझे और मेरे साथियों को प्राप्त हुआ है। देशहित में आपके इस निर्णय के लिए में ब्रजभूमि से आपके सामने शीश झुकाता हूं। उन्होंने कहा कि आप सभी के आदेश के अनुरूप बीते 100 दिन में हमने अभूतपूर्व काम करके दिखाया है। मुझे विश्वास है कि देश के विकास के लिए आपका ये समर्थन और आशीर्वाद हमें मिलता रहेगा। 

BJP@BJP4India

PM Shri @narendramodi launches multiple development projects in Mathura, UP. https://www.pscp.tv/w/cEiODzFZTEVKTlh4RG5ORU58MW1ueGV6QlBXRXFLWAOTOftde0FaNe7E_sifQjJEKTlH-EwsWKxtEN1UrKU3 …

BJP @BJP4India

PM Shri @narendramodi launches multiple development projects in Mathura, UP.

pscp.tv

1,137

12:09 pm - 11 सित॰ 2019

Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता

मोदी ने कहा कि प्रकृति, पर्यावण और पशुधन के बिना जितने अधूरे खुद हमारे आराध्य नजर आते हैं उतना ही अधूरापन हमें भारत में भी नजर आएगा। पर्यावण और पशुधन हमेशा से ही भारत के आर्थिक चिंतन का महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। स्वच्छ भारत हो, जल जीवन मिशन हो या फिर कृषि और पशुपालन को प्रोत्साहन। प्रकृति और आर्थिक विकास में संतुलन बनाकर ही हम सशक्त और नए भारत के निर्माण की तरफ आगे बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से प्लास्टिक से मुक्ति का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि महात्मा गाँधी 150 ये प्रेरणा का वर्ष है। स्वच्छता ही सेवा के पीछे भी यही भावना छुपी हुई है। आज से शुरू हो रहे इस अभियान को इस बार विशेष तौर पर प्लास्टिक के कचरे से मुक्ति के लिए समर्पित किया गया है। 

पीएम ने कहा कि प्लास्टिक से होने वाली समस्या समय के साथ गंभीर होती जा रही है। आप ब्रजवासी तो अच्छी तरह जानते है कैसे प्लास्टिक पशुओं की मौत का कारण बन रही है। इसी तरह नदियां, तालाबों में रहने वाले प्राणियों का वहां की मछलियों का प्लास्टिक को निगलने के बाद जिन्दा बचना मुश्किल हो जाता है। अब सिंगल यूज प्लास्टिक से हमें छुटकारा पाना ही होगा। हमें कोशिश करनी है कि 2 अक्टूबर तक अपने दफ्तरों, घरों और अपने आस पास के वातावरण को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करना है। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement