खेल मानसिक व शारीरिक स्वच्छता हेतु आवश्यक - अग्रवाल

img

  • संकुल स्तरीय प्राथमिक विद्यालय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन

रानीवाड़ा। रानीवाड़ा पंचायत समिति के अंतर्गत रानीवाड़ा कलां के नट कॉलोनी स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रथम संकुल स्तरीय प्राथमिक विद्यालय छात्र-छात्रा 11 वर्ष आयु वर्ग खेलकूद प्रतियोगिता का समापन समारोह का आयोजन मंगलवार को रानीवाड़ा उपखंड मजिस्ट्रेट प्रकाशचन्द्र अग्रवाल के मुख्य अतिथि, ग्राम विकास अधिकारी संघ के जिलाध्यक्ष व भामाशाह भाणाराम बोहरा की अध्यक्षता में किया गया, वहीं तहसीलदार शंकरलाल मीणा, एबीईईओ गजेन्द्र देवासी, प्रधानाचार्य प्रतापाराम, बीसीएमओ डॉ बाबुलाल पुरोहित, पूर्व सरपंच नागजीराम, भुपसिंह, पूर्व जिला उपप्रमुख हड़मतसिंह, नवलसिंह देवड़ा, आरपी केसाराम गोदारा विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। कार्यक्रम का आगाज मुख्य अतिथि द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

अग्रवाल ने विजेता खिलाडिय़ों को जीत की बधाई देकर जीवन में खेलों का महत्व बताते हुए कहा कि खेल मानसिक व शारीरिक स्वच्छता हेतु आवश्यक हैं। उन्होंने समस्त खिलाडी छात्रों को जीतने पर परिश्रम करने तथा हारने पर दुगुने जोश के साथ भाग लेकर आगे बढने की सीख दी। अग्रवाल ने दो दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता में भामाशाह बने बोहरा की प्रशंसा की। समारोह की अध्यक्षता कर रहे भामाशाह बोहरा ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ जीवन मे खेलो को भी महत्व दिया जाना चाहिये, क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति अच्छी प्रकार से शिक्षा ग्रहण कर सकता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए खेलकूदों की महत्ती आवश्कता है, खेल जीवन में जरूरी है। तहसीलदार मीणा ने कहा कि वर्तमान समय में शिक्षा के साथ खेलकूद का भी महत्व बढ़ गया है एवं एक अच्छा खिलाड़ी न केवल सबके सम्मान का पात्र होता है बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश का भी नाम रोशन करता है।

एबीईईओ देवासी ने कहा कि खेलकूद से न केवल विद्यार्थियों का शारीरिक व मानसिक विकास होता है बल्कि अनुशासित रूप से रहने एवं नेतृत्व के गुणों का भी विकास होता है। बीसीएमओ पुरोहित ने कहा कि खेलों के द्वारा शरीर स्वस्थ रहता है, इतना ही नहीं खेल-खेल में विद्यार्थी बहुत सारी ज्ञान की चीजें भी सीख लेते है। उन्होंने आपसी सौहार्द एवं प्रेम से अपने-अपने खेल का कुशल प्रदर्शन कर अपना व अपने विद्यालय का नाम रोशन करने वाले सभी खिलाडियों को बधाई दी। संस्थाप्रधान झालाराम ने प्रतियोगिता का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया एवं भामाशाह एवं समस्त कार्मिकों का पूर्ण सहयोग हेतु आभार व्यक्त किया। इस प्रतियोगिता में कुल आठ टीमों ने भाग लिया। भामाशाह बोहरा द्वारा सभी विजेता टीमों को पुरूस्कार वितरण किया गया।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement