एस्कॉर्टस ने पेश की भारत की पहली हाइब्रिड ट्रैक्टर

img

एस्कॉर्टस ने भारत के पहले हाइब्रिड ट्रैक्टर हाइब्रिड बैकहो लोडर और मल्टी यूटिलिटी बैकहो लोडर को पेश किया है। एस्कॉर्टस ने वर्ष 2019 में तीन नए वाहनों का खुलासा किया है, जो कंपनी का वार्षिक इनोवेशन शोकेस प्लेटफॉर्म है। भारत में यह अपनी तरह का पहला हाइब्रिड वाहन है, जो डीजल और बैटरी दोनों पर चल सकता है। यह तकनीक लंबे समय से कई कार निर्माताओं द्वारा अपने वाहन को पर्यावरण के अनुरूप बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले तरीकों में से एक है।

देश में हाइब्रिड वाहनों का चलन तब शुरू हुआ है, जब इलेक्ट्रिक कारों की रेंज नहीं थी। वहीं सिर्फ पेट्रोल और डीजल से चलने वाली कारों की उत्सर्जन को अच्छा नहीं कहा जा सकता था। वहीं दुनिया के अधिकांश हिस्सों में इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने का प्रक्रिया चल रही है। इसलिए ज्यादातर वाहन निर्माता इलेक्ट्रिक वाहनों पर ही ध्यान केंद्रित कर रहे है। हालांकि इलेक्ट्रिक वाहनों की रेस में भारत अब भी बहुत पीछे है। वहीं यूरोप और अमेरिका के कई देश हाइब्रिज कमर्शियल वाहनों को पहले से अपना चुकें है। लेकिन भारत में अब भी यह प्रक्रिया चल ही रही है।

इस कड़ी में एस्कॉर्ट्स हाइब्रिड ट्रैक्टर और हाइब्रिड बैकहो लोडर के साथ यहां अग्रणी की भूमिका निभा रहा है। एस्कॉर्ट्स फार्मट्रैक हाइब्रिड ट्रेक्टर एक 4-व्हील-ड्राइव मॉडल है जिसे 70-75एचपी श्रेणी में तैनात किया गया है। हालांकि यह 70-75एचपी श्रेणी में है, लेकिन ट्रैक्टर को हाइब्रिड ड्राइवट्रेन की बदौलत 90एचपी तक बढ़ाया जा सकता है। इसमें चार ऑपरेटिंग मोड हैं जो डीजल और इलेक्ट्रिक पावर दोनों को स्वतंत्र रूप से प्रोपल्शन के लिए इस्तेमाल करते हैं।

हाइब्रिड मोड उपयोगकर्ताओं को ट्रैक्टर चलाने के लिए बैटरी पावर और डीजल इंजन दोनों का उपयोग करने की अनुमति देता है। आईसीई डायरेक्ट मोड सिर्फ डीजल इंजन से बिजली का उपयोग करता है। वहीं बैटरी-इलेक्ट्रिक मोड डीजल इंजन को बंद कर देता है और वाहन को पावर देने के लिए बैटरी का उपयोग करता है।

इसका प्लग-इन मोड एक दीवार सॉकेट पावर स्रोत से बैटरी चार्ज करने में सक्षम बनाता है। यदि कोई प्लग-इन मोड के साथ अग्रानुक्रम में सिर्फ बैटरी इलेक्ट्रिक मोड का उपयोग करने का निर्णय लेता है, तो यह ट्रैक्टर शुद्ध-इलेक्ट्रिक वाहन के रूप में कार्य कर सकता है। एस्कॉर्ट्स द्वारा दिखाए गए बेकहो लोडर में भी समान ड्राइव मोड हैं, लेकिन कम शक्ति और अधिक कार्यक्षमता के साथ। एस्कॉर्ट्स हाइब्रिड बैकहो लोडर 50एचपी डीजल इंजन का उपयोग करता है, जिसे बैटरी और इलेक्ट्रिक मोटर के साथ 75बीएचपी तक बढ़ाया जा सकता है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement