आते हैं खर्राटे तो इन उपायों का करें इस्तेमाल

img

कई लोग रात को सोते समय जोर-जोर से खर्राटे मारते हैं जिससे परिवार के बाकि सदस्य भी परेशान होते हैं। खर्राटे की आवाज से हर किसी की नींद खराब होती है। जब कोई किसी से कहता है कि तुम बहुत खर्राटे लेते हो तो अधिकतर की पहली प्रतिक्रिया इसे नकारने की होती है। आंकड़ों की मानें तो 45 प्रतिशत लोग कभी-कभी खर्राटे लेते हैं, जबकि 25 प्रतिशत लोग नियमित रूप से ऐसा करते हैं। खर्राटे एक कर्कश आवाज है, जो संकेत है कि व्यक्ति को सोते समय सांस लेने में परेशानी हो रही है। आमतौर पर इसे सामान्य मान लिया जाता है। लंबे समय तक इसकी अनदेखी न सिर्फ खर्राटे लेने वाले की नींद व उसकी गुणवत्ता पर असर डालती है।

  • सोने वाले कमरे में पर्याप्त नमी रखें। सूखी हवाएं नाक व गले की मांसपेशियों में जलन करती हैं।
  • गले में खराश हो तो नमक के पानी से गरारे करें। नाक बंद रहती है तो नेजल स्प्रे भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • खर्राटे की समस्या यदि गंभीर नहीं है तो जीवनशैली में कुछ बदलाव लाकर इसे कम किया जा सकता है।
  • अपना वजन कम करें। सक्रिय रहें। सोने से तुरंत पहले धूम्रपान, एल्कोहल व भारी भोजन से बचें। नींद की गोलियों से बचें। पीठ के बल सीधे लेटने की जगह करवट लेकर सोएं।
  • जब भी मौका मिले कोई गीत गुनगुना लें इससे तालू और गले की मांसपेशियों पर नियंत्रण बढ़ता है।
  • व्यायाम भी है कारगर 
  • जीभ के अग्रभाग को दांतों से सटा लें। फिर जीभ को पीछे की ओर खींचे। ऐसा एक मिनट तक करेंए दिन में कम से कम तीन बार करें।
  • अंग्रेजी के अक्षरों ए.ई.आई.ओ.यू को तीन मिनट तक जोर-जोर से बोलें ऐसा दिन में कई बार करें।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement