संस्कृत केवल भाषा नहीं बल्कि एक संस्कार है- मुख्यमंत्री

img

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संस्कृत दिवस (14 अगस्त) पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।  गहलोत ने कहा कि संस्कृत केवल एक भाषा मात्र नहीं है अपितु एक विचार, एक संस्कृति और एक संस्कार भी है। उन्होंने कहा कि कोई भी देश या समाज अपने  सांस्कृतिक मूल्यों को सहेजे बिना उन्नति नहीं कर सकता। संस्कृत भाषा हमारी महान संस्कृति और संस्कारों की आधारशिला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्कृत दुनिया की सबसे पुरानी भाषाओं में से एक है। इसे विश्व की अन्य भाषाओं की जननी भी माना जाता है। हमारा प्राचीन साहित्य, हमारे धर्म ग्रंथ एवं प्राचीन भारत का इतिहास संस्कृत में लिखा गया है। संस्कृत के विद्वानों ने इस भाषा को और समृद्ध किया है।  गहलोत ने युवा पीढ़ी का आह्वान किया कि संस्कृत दिवस पर हमारे युवा यह संकल्प लें कि अपनी प्राचीन भाषाओं एवं संस्कृति के संरक्षण के लिए समर्पित होकर कार्य करेंगे। 
 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement