4 दिनों के बाद बीएचयू में हड़ताल खत्म, काम पर लौटे डॉक्टर

img

वाराणसी, शुक्रवार, 26 जुलाई 2019। सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने संबंधी आश्वासन मिलने के बाद चार दिनों से हड़ताल कर रहे काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के सर सुंदर लाल अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर शुक्रवार को अपने-अपने काम पर लौट आये, जिससे यहां की स्वास्थ्य सेवाएं काफी हद तक समान्य हो गई हैं। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बीएचयू की चिकित्सा विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो आर के जैन और सर सुंदर लाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा एस के माथुर द्वारा आदोलनकारी डॉक्टरों के प्रतिनिधि यूजीसी के एक पत्र का हवाला देते हुए मांगें मानने के आश्वासन के बाद डॉक्टरों ने हड़ताल समाप्त कर काम पर लौटने का फैसला गुरुवार रात लिया था। डॉक्टरों के अपने-अपने काम पर लौटने से यहां की ओपीडी एवं अन्य चिकित्सा सेवाएं लगभ्ग सामान्य हो गई है। ओपीडी में सामान्य से अधिक मरीजों की भीड़ है। अगले दो-तीन दिनों में तमाम सेवाएं पूरी तरह से समान्य होने की उम्मीद है।

रेजिडेंट डॉक्टर गत सोमवार को दो दिनों की हड़ताल पर चले गए थे। पूर्व की घोषणा के अनुसार बुधवार तक उनके काम पर लौटने की उम्मीद की जा रही थी लेकिन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो राकेश भटनागर के साथ उनकी बातचीत विफल होने के बाद उन्होंने हड़ताल जारी रखने का फैसला लिया था। गुरुवार को हड़ताली डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि उनकी मांगों पर कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला तो वे अपना और आंदोलन तेज करते हुए शनिवार से आपाताकालीन एवं अन्य आवश्यक सेवाओं का भी वहिष्कार करेंगे। इसी बीच गुरुवार रात आश्वासन मिलने के बाद डॉक्टरों ने हड़ताल समाप्त करने के साथ शुक्रवार से काम पर लौटने का फैसला लिया।

गौरतलब है कि डॉक्टरों ने ओपीडी सेवा का बहिष्कार किया हुआ था जिससे दूर-दराज से यहां आये मरीज बिना इलाज कराये अपने घरों को लौटने को मजबूर थे। बहुत से लोग डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने की उम्मीद में गत तीन-चार दिनों ये यहां ठहरे हुए थे।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement