जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाना गलत- फारूक अब्दुल्ला

img

नई दिल्ली, शुक्रवार, 28 जून 2019। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस सांसद फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक का स्वागत किया है. फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि यह आरक्षण विधेयक अच्छा है. हम उसके खिलाफ नहीं हैं. अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रहने वाले लोग बहुत गरीब हैं. अगर उन्हें आरक्षण मिलता है तो यह बहुत अच्छा होगा. हालांकि उनका ये भी कहना है कि इससे दूसरे लोगों को मिल रहा आरक्षण प्रभावित नहीं होना चाहिए. गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक और जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि 6 महीने और बढ़ाए जाने का प्रस्ताव लोकसभा में पेश किया. बता दें कि जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक के तहत जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के 10 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले लोगों के लिए शिक्षण संस्थाओं और सरकारी नौकरी में आरक्षण देने का प्रावधान है. गृहमंत्री अमित शाह द्वारा संसद में पेश किया जाने वाला यह पहला विधेयक है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement