बंद होगा Skoda Rapid का डीज़ल वर्जन, ये है वजह

img

नई दिल्लीः देश में 1 अप्रैल 2020 से बीएस 6 उत्सर्जन मानक लागू होने है, जिसके बाद से कई कंपनियां अपने डीजल इंजन को बंद करने की घोषणा कर चुकी है। इसी कड़ी में अब स्कोडा भी शामिल हो गई है। स्कोडा के अनुसार रैपिड सेडान में मिलने वाली 1.5-लीटर डीजल इंजन को बीएस-6 मानक लागू होने से पहले बंद कर दिया जाएगा।

इस बात की पुष्टि स्कोडा इंडिया के सेल्स, सर्विस और मार्केटिंग के डायरेक्टर ज़ैक हॉलिस ने की है। साथ ही, ज़ैक हॉलिस ने कहा कि रैपिड के 1.6-लीटर एमपीआई पेट्रोल इंजन की जगह, ज्यादा किफयती 1.0-लीटर पेट्रोल टीएसआई (टर्बोचार्ज्ड स्ट्रैट इंजेक्शन) इंजन को पेश किया जाएगा। ऐसी उम्मीद है कि स्कोडा की तरह फॉक्सवेगन भी अपने पोलो, वेंटो और एमियो में मिलने वाले 1.5-लीटर डीजल इंजन को बंद कर सकती है।

यह नया 1.0-लीटर टीएसआई पेट्रोल इंजन स्कोडा रैपिड के अलावा, फॉक्सवेगन टी-क्रॉस, नेक्स्ट-जनरेशन वेंटो और स्कोडा की अपकमिंग कॉम्पैक्ट एसयूवी (कामिक) में भी दिया जाएगा। इसके अलावा, वेंटो और पोलो जीटी टीएसआई में मिलने वाले 1.2-लीटर टीएसआई इंजन की जगह भी यही इंजन दिया जाएगा।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement