तुलसी के पौधे में चांदी का सांप लाएगा सौभाग्य

img

घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाने की परम्परा प्रचलित है घर से निकलने से पूर्व तुलसी के दर्शन करना शुभ माना जाता है। इनकी पत्तियों में कीटाणु नष्ट करने का एक विशेष गुण है। माना जाता है कि कुछ खास ज्‍योतिषिय उपचार किए जाएं तो आप सौभाग्य प्राप्त कर सकते हैं।

एक गमले में एक पौधा तुलसी का तथा एक पौधा काले धतूरे का लगाये। इन दोनों पौधों पर प्रतिदिन स्नान आदि से निवृत होकर शुद्ध जल में थोड़ा सा कच्चा दूध मिलाकर अर्पित करें। जो भी व्यक्ति यह प्रयोग नित्य 1 वर्ष तक करेगा उसे पितृदोष से मुक्ति मिल जायेगी.तथा उसको ब्रहमा, विष्णु, महेश, इन तीनों की संयुक्त पूजा फल मिलेगा चूंकि विष्णु प्रिया होने के कारण तुलसी विष्णु रूप है तथा काला धतूरा शिव रूप है एंव तुलसी की जड़ो में ब्रहमा का निवास स्थान माना जाता है।

एक छोटा सा चांदी का सर्प बनवाकर। इस सर्प की पूजा जिस दिन चर्तुदशी हो उस दिन स्नान कर तुलसी के पौधे के नीचे, इसे रखकर, इस पर दूध, अक्षत, रोली, आदि लगाकर इसकी पूजा करें.घी का दीपक भी जलायें। जिस समय पूजा करें उस समय साधक का मुख पूर्व दिशा की तरफ होना चाहिए.भोग अर्पित कर दान भी करें। दीपक जब ठण्डा हो जाये तो उसके बाद चांदी के सर्प को पूजा करने वाला व्यक्ति ही उठाकर किसी नदीं में प्रवाहित कर दे। इस प्रकार नित्य 40 दिन तक पूजन करने से कालसर्प दोष दूर हो जाता है। जीवन भर यह पूजा करने से कभी धन का अभाव भी नहीं रहता। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement