कांग्रेस नेता उर्मिला मातोंडकर का रोड शो, लगने लगे मोदी-मोदी के नारे, भिड़े समर्थक

img

मुंबई, सोमवार, 15 अप्रैल 2019। लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार में जुटीं कांग्रेस नेता उर्मिला मातोंडकर की रैली के दौरान पीएम मोदी के समर्थकों ने मोदी मोदी के नारे लगाए. मुंबई नॉर्थ सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरीं उर्मिला जिस वक्त अपने समर्थकों के साथ बोरीवली इलाके में प्रचार के पहुंची, तभी अचानक कुछ युवक वहां पर मोदी मोदी के नारे लगाने लगे. इतने में ही कांग्रेस समर्थकों की भीड़ इन युवाओं की तरफ बढ़ी और चौकीदार चोर है के नारे लगाने लगे. कांग्रेस समर्थकों की भीड़ देख मोदी मोदी के नारे लगाने वाले युवक तितर-बितर हो गए. इतने में ही एक कांग्रेस समर्थक ने एक युवक को पकड़ लिया और उसके साथ हाथापाई की. वीडियो में आप खुद भी देख सकते हैं किस प्रकार दोनों दलों के समर्थक आपस में भिड़ गए. उर्मिला ने बाद में इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई.

ANI@ANI

#WATCH Scuffle broke out between Congress workers & BJP supporters during Congress candidate from Mumbai North, Urmila Matondkar's election campaign at Borivali. #Maharashtra. #LokSabhaElections2019

1,127

1:00 PM - Apr 15, 2019

Urmila Matondkar@OfficialUrmila

Shocked at the blatant violation of code of conduct and hostile acts by BJP workers.. I was constrained to lodge police complaint for my own safety and to save the dignity of my female supporters.. #AapliMumbaichiMulagi

937

1:27 PM - Apr 15, 2019

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मुम्बई में प्रचार अभियान ने तेजी पकड़ ली है..जहां कांग्रेस अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश में जुटी है. शिवसेना और बीजेपी के तल्ख रिश्तों के बावजूद चुनाव से ठीक पहले एकसाथ आ जाने से कांग्रेस की मुश्किलें जहां एक ओर बढ़ गईं हैं तो वहीं दूसरी ओर मनसे के प्रमुख राज ठाकरे का कांग्रेस को समर्थन से पार्टी को राहत मिली है. 

मुम्बई में छह लोकसभा सीटों में से कांग्रेस पांच पर और उसका सहयोगी दल एनसीपी एक सीट पर मैदान में हैं. इस बार कांग्रेस और बीजेपी वर्धा, नागपुर, गढ़चिरौली-चिमूर, चंद्रपुर सीटों पर एक-दूसरे के खिलाफ खड़े हैं जबकि रामटेक और यवतमाल-वाशिम में कांग्रेस का मुकाबला शिवसेना से होगा. भंडारा-गोंदिया में एनसीपी का मुकाबला बीजेपी से होगा. 

नागपुर, चंद्रपुर और यवतमाल-वाशिम निर्वाचन क्षेत्रों से क्रमश: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, हंसराज अहीर और वरिष्ठ कांग्रेस नेता माणिकराव ठाकरे चुनाव लड़ते रहे हैं. साल 2014 के चुनाव में कांग्रेस दो से तीन लाख मतों के अंतर से छह सीटों पर हार गई थी. एनसीपी के प्रफुल पटेल को करीब 1.4 लाख मतों के अंतर से भंडारा-गोंदिया सीट पर हार का सामना करना पड़ा था. बीजेपी के टिकट पर जीतने वाले और पटेल को हराने वाले नाना पटोले साल 2017 में कांग्रेस में शामिल हुए. इस सीट पर 2018 में हुए उपचुनाव में एनसीपी के मधुकर कुकड़े ने जीत दर्ज की थी.कांग्रेस ने गढ़चिरौली-चिमूर से नामदेव उसेंडी को फिर से उम्मीदवार बनाया है. उसेंडी 2014 में विधायक थे जब वे गढ़चिरौली में कांग्रेस की तरफ से खड़े हुए लेकिन उन्हें पूर्व बीजेपी विधायक अशोक नेटे ने हरा दिया.

चंद्रपुर में मौजूदा शिवसेना विधायक सुरेश धनोरकर केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर के खिलाफ पार्टी के उम्मीदवार हैं. मुंबई उत्तर से चुनाव लड़ रहीं अदाकारा उर्मिला मातोंडकर का मुकाबला बीजेपी के गोपाल शेट्टी से है. वहीं मुंबई उत्तर-मध्य सीट से चुनाव लड़ रहीं कांग्रेस की प्रिया दत्त का मुकाबला बीजेपी की पूनम महाजन से होगा. 

साल 2014 में विदर्भ से सूपड़ा साफ होने के बाद कांग्रेस अब अपनी खोई जमीन वापस पाने की उम्मीद कर रही है. कांग्रेस के एक स्थानीय नेता ने कहा कि अब मोदी लहर नहीं है और कांग्रेस सत्ता विरोधी लहर का सामना नहीं कर रही है. उन्होंने कहा, ‘‘ यहां कांग्रेस के पक्ष में या कांग्रेस विरोधी लहर नहीं है. यह कांग्रेस के पक्ष में काम करेगा. हम संगठन के स्तर पर बीजेपी और शिवसेना से कमजोर हैं, लेकिन हमें जनता का समर्थन हासिल है.’’  

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement