मधुमक्‍खी काट ले तो तुरंत करें ये 4 उपचार, नहीं होगा दर्द और कोई नुकसान

img

मधुमक्खी का शहद जितना मीठा होता है उसका दंश उतना ही घातक. मधुमक्खी अगर डंक मार दे तो उस जगह पर सूजन तो आ ही जाती है साथ ही तेज दर्द भी शुरू हो जाता है. कई बार तो दर्द और जहर के प्रभाव से बुखार भी हो जाता है। 

पर आपको बता दें कि मधुमक्खी या दूसरे कीट नुकसान पहुंचाने के लिए नहीं बल्क‍ि आत्मरक्षा में डंक मारते हैं या काटते हैं. मधुमक्खियों के डंक में जहर होता है जिससे शरीर में संक्रमण हो जाता है। ऐसे में आप चाहें तो मधुमक्खी के डंक का इलाज घर पर ही कर सकते हैं...

डंक निकाले: मधुमक्‍खी के काटने पर डंक को काटे हुए हिस्‍से से तुरंत बाहर निकालें। लेकिन ध्‍यान रहें कि डंक को अपने हाथों से निकालने की कोशिश न करें क्‍योंकि इससे हाथों में जहर फैल सकता है। किसी कार्ड या धातु का प्रयोग कर डंक को निकालें।

बर्फ लगाएं: प्रभावित जगह पर बर्फ लगाने से कई तरह की परेशानियों और लक्षणों में राहत मिल जाएगी। ठंड की वजह से विषाक्त पदार्थ बहुत अधिक फैलता नहीं है। इसके अलावा ये दर्द कम करने में भी सहायक होता है। 

बेकिंग सोडा: बेकिंग सोडा अल्कलाइन होता है जोकि जहर के असर को कम करने में मददगार होता है। बेकिंग सोडा लगाने से दर्द, खुजली और सूजन में राहत हो जाएगी। 

कैलामाइन लोशन: मधुमक्‍खी के डंक के लिए कैलामाइन लोशन भी बहुत अच्‍छा होता है। डंक के असर को कम करने के लिए प्रभावित भाग पर कैलामाइन लोशन लगाकर 40 मिनट के लिए छोड़ दें और चार घंटे के बाद दोबारा इसे लगाये। 

सिरका: सिरके के इस्तेमाल से भी जहर का असर कम हो जाता है. साथ ही ये भी दर्द, सूजन और खुजली में राहत पहुंचाता है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement