प्रकाश जावडेकर ने चिटफंड घोटाले में ममता सरकार को बताया भागीदार

img

नई दिल्ली, सोमवार, 04 फरवरी 2019। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने केंद्रीय जांच आयोग (सीबीआई) जांच के खिलाफ धरने पर बैठीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने एक प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित करते हुए इसे राजदारों को बचाने की कोशिश करार दिया। उन्होंने कहा कि चिटफंड घोटाले में ममता सरकार भागीदार है और इसलिए वह अपने राज बचाने की कोशिश कर रही है। 

पश्चिम बंगाल में संविधान की हत्या हो रही है और मोदी सरकार को तानाशाह बताने वालीं ममता खुद तानाशाही पर उतर गई हैं। आज कई विपक्षी दल ममता बनर्जी के समर्थन में एक हुए हैं। यह महागठबंधन भ्रष्टाचार का बंधन है जो क्षेत्र के आधार पर बंटा है और भ्रष्टाचार के आधार पर जुड़ा है। 

पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के पास कई महत्वपूर्ण साक्ष्य हैं जिनसे शारदा चिटफंड घोटाले से पर्दा उठ सकता है। उनके पास लाल डायरी और पेन ड्राइव है। ममताजी को डर है कि कहीं कमिश्नर के पास से निकले ये सबूत उन तक न पहुंच जाएं। यह देश में पहली बार हो रहा है, जब मुख्यमंत्री केंद्रीय जांच एजेंसी को जांच नहीं करने दे रहीं। 

कल मुख्यमंत्री सेना व पुलिस को केंद्र सरकार के खिलाफ भडक़ा रही थीं। पश्चिम बंगाल में संविधान का शासन पूरी तरह से खत्म हो चुका है। धरने पर पुलिस अधिकारी, पुलिस कमिश्नर, एडीजी बैठे हैं। जिसे (कमिश्नर) चिटफंड स्कैम के बारे में बहुत कुछ पता है उसे बचाने के लिए सीएम धरने पर हैं। सीबीआई को जांच का आदेश 10 मई 2014 को सुप्रीम कोर्ट ने जांच का आदेश दिया था। तब मोदी सरकार नहीं आई थी देश में। यह 40 हजार करोड़ का घोटाला है। 100 से ज्यादा लोगों ने आत्महत्या की है। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement