चिकित्सालय से अनुपस्थित कर्मचारियों के विरूद्ध होगी सख्त कार्रवाई

img

जयपुर, रविवार, 20 जनवरी 2019। प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. रघु शर्मा ने चिकित्सा विभाग के सभी चिकित्सकों एवं चिकित्साकर्मियों की निर्धारित समय पर स्वास्थ्य केन्द्रों में उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बिना अनुमति अवकाश पर रहने वाले, निर्धारित समय पर चिकित्सालय में अनुपस्थित रहने वाले चिकित्सकों एवं चिकित्साकर्मियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।

उन्होंने बताया कि सम्पूर्ण प्रदेश में स्वाईन फ्लू की प्रभावी रोकथाम के लिये 21 जनवरी से 23 जनवरी तक सघन निरीक्षण अभियान संचालित किया जायेगा।डाॅ. शर्मा ने स्वास्थ्य निदेशालय सहित सभी संयुक्त निदेशकों, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों तथा ब्लाॅक सीएमओं को अपने क्षेत्रों में नियमित रूप से दौरे करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने अनुपस्थित पाये जाने वाले चिकित्सा कर्मियों की सूचना मुख्यालय पर भेजने के साथ ही उनके विरूद्ध नियमानुसार सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्वाईन फ््लू की गंभीरता को ध्यान में रखकर सभी चिकित्सकों व चिकित्साकर्मियों के अवकाश निरस्त करने के निर्देश दिये हैं एवं अवहेलना करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।

स्वाईन फ्लू स्क्रीनिंग में तत्परता बरतें

डाॅ. शर्मा ने बताया कि स्वाईन फ्लू की प्रभावी रोकथाम करने हेतु सम्पूर्ण प्रदेश में 21 जनवरी से 23 जनवरी तक सघन निरीक्षण अभियान संचालित किया जायेगा एवं सघन स्वाईन फ्लू संक्रमण की स्क्रीनिंग की जायेगी। इस अभियान के दौरान विशेष रूप से 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों, 60 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्तियों एवं गर्भवती महिलाओं को तेज बुखार, जुकाम जैसे लक्षण प्रतीत होने पर उपचार प्रारम्भ किया जायेगा। 

स्वाईन फ्लू पाॅजीटिव पाये जाने पर संबंधित के परिवार व पडौसियों के साथ ही उसके सम्पर्क में आये सभी व्यक्तियों की स्क्रीनिंग करने के कार्य में विशेष तत्परता बरतने के निर्देश दिये हैंै। बच्चों के पाॅजीटिव मामलों में सम्बन्धित के विद्यालयों की भी स्क्रीनिंग कराने के निर्देश गये हैं। स्क्रीनिंग की क्राॅस वेरिफिकेशन कराने के साथ ही कमियां पाई जाने पर सम्बन्धित व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। प्रदेश के सभी मेड़िकल काॅलेज से सम्बन्धित अस्पतालों तथा अन्य सभी चिकित्सा संस्थानों में स्वाईन फ्लू के उपचार के लिये की गयी व्यवस्थाओं में विशेष गंभीरता बरती जा रही है। सभी चिकित्सा संस्थानों में स्वाईन फ्लू रोगियों के लिये अलग से आउट डोर व वार्ड के साथ ही समर्पित आईसीयू व वेन्टिलेटर आरक्षित किये गये हैं।  उन्होंने स्वाईन फ्लू से ग्रसित व्यक्तियों के उपचार में विशेष गंभीरतने एवं उन्हें तुरंत आईसीयू निगरानी में लेकर समुचित उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement