बुलंदशहर हिंसा : जीतू फौजी पर बोले रावत, सबूत होगा तो सामने लाएंगे

img

बुलंदशहर, शनिवार, 08 दिसंबर 2018। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी जीतू फौजी को पकड़े को लेकर अभियान चल रहा है। इसी बीच शनिवार को सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि अगर जीतू के खिलाफ सबूत मिलता है तो उसे पुलिस के सामने पेश किया जाएगा। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा, अगर कोई सबूत होगा और पुलिस को उस पर शक है तो हम उसे सामने लाएंगे। हम पुलिस को पूरी तरह से मदद कर रहे हैं।

उधर खबर है कि बुलंदशहर हिंसा के फरार चल रहे आरोपी जीतू फौजी को सेना ने यूपी पुलिस को सौंप दिया है। हालांकि सैन्य या पुलिस अधिकारी अभी इसकी पुष्टि करने से बच रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, उसे यूपी वापस लाया जा रहा है। जीतू हिंसा वाले दिन से ही फरार था जिसे पकडऩे के लिए पुलिस की टीम शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर पहुंची थी। जीतू पर हिंसा भडक़ाने, आगजनी और हत्या का आरोप है। जीतू भारतीय सेना का जवान है जो कश्मीर में तैनात है।

एसएसपी सहित 3 अफसर का तबादला
उधर केबी सिंह को हटाकर प्रभाकर चौधरी को बुलंदशहर का नया एसएसपी बनाया गया है। केबी सिंह को डीजीपी ऑफिस से अटैच किया किया गया है। इसके अलावा स्याना के डीएसपी सत्य प्रकाश शर्मा और चिंगरावटी के चौकी प्रभारी सुरेश कुमार को सीएम के आदेश पर हटा दिया गया। सत्य प्रकाश को मुरादाबाद के पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में ट्रांसफर कर दिया गया है जबकि सुरेश कुमार का ट्रांसफर ललितपुर कर दिया गया है। इन पर पथराव के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध को छोडक़र भागने का आरोप है।

कौन है जीतू फौजी
पुलिस के पास जीतू फौजी का कोई आपराधिक रेकॉर्ड नहीं है। बताया जा रहा है कि उसने इंटर कॉलेज चित्सौना से हाईस्कूल तक पढ़ाई की। इसके बाद पब्लिक इंटर कॉलेज स्याना से 12वीं की परीक्षा पास की। फिर कुछ समय घनसूरपुर कॉलेज से भी पढ़ा। जीतू की उम्र 24 साल के आसपास बताई जा रही है जो 4 साल पहले ही सेना में भर्ती हुआ था। जीतू शादीशुदा है और उसका 10 महीने का एक बच्चा भी है। गांव के लोगों ने बताया कि जब से वह सेना में भर्ती हुआ है तबसे छुट्टियों में ही घर आता था।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement