नोटबंदी और जीएसटी को लेकर कांग्रेस नेता नादान, इसलिए करते है नारेबाजी- जेटली

img

जयपुर, मंगलवार, 27 नवंबर 2018। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी को लेकर कांग्रेस के नेता नादान है और सिर्फ नोटबंदी और जीएसटी पर नारेबाजी करके वोट और समर्थन मांग रहे है। जयपुर में भाजपा के मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता में जेटली ने कहा कि कांग्रेस के शासन काल में वैट और अन्य टैक्सों से 32 प्रतिशत टैक्स वस्तुओं पर पड़ता था, लेकिन जीएसटी के बाद अब 18 और 12 फीसदी टैक्स है। अगर नोटबंदी की बात करें तो इनकम टैक्स जमा कराने वाले आयकर दाताओं की तादात अब इस साल 7 करोड़ से अधिक होने जा रही है।

जेटली ने कहा कि कांग्रेस के नेता नोटबंदी और जीएसटी के फायदे के आंकड़ें समझ नहीं पा रहे है और नादान है। साथ ही नारेबाजी करके नादानी छुपाने का स्वभाव कांग्रेस के नेताओं का बन गया है। उन्होंने वर्ष 1971 में गरीबी हटाओं का नारा कांग्रेस ने दिया था, लेकिन गरीबी दूर करने में मोदी सरकार ने सफलता हासिल की है।

उन्होंने कहा कि अभी राजस्थान समेत अन्य राज्यों में चुनाव है, इन चुनावों में गरीबी दूर करने का फैक्टर बहुत बड़ा है। जिसे केंद्र सरकार ने पूरा किया है। जेटली ने कहा कि जब विकास होता है, तो साधन बढ़ते है और राजस्व भी बढ़ता है। जेटली ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में राज्यों को टैक्स की हिस्सेदारी ज्यादा मिल रही है। कांग्रेस के शासन काल में 32 फीसदी थी, जबकि मोदी सरकार के कार्यकाल में 42 फीसदी योगदान राज्यों को किया जाता है। 

जेटली ने कहा कि गरीबों के लिए बनी योजनाएं गरीबों तक पहुंची है, और यही आधार है कि राजस्थान में इस बार भी वसुंधरा के नेतृत्व में सरकार बनेगी। जेटली ने कहा कि कांग्रेस को सत्ता में आना नहीं है, इसलिए किसानों के लिए घोषणा कर रहे है कि 10 दिन के अंदर कर्जा माफ कर दिया जाएगा।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement