छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: दूसरे चरण में दोपहर तक 25 प्रतिशत मतदान

img

रायपुर, मंगलवार, 20 नवंबर 2018। छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए मंगलवार को हो रहे दूसरे और अंतिम चरण के मतदान में दोपहर साढ़े बाहर बजे तक लगभग 25 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। राज्य में ​मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि सुबह आठ बजे राज्य के 19 जिलों के 72 ​विधानसभा सीटों पर मतदान शुरू हुआ। दोपहर साढ़े 12 बजे तक 25.2 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। राज्य के वरिष्ठ नेता और अधिकारी भी अपने क्षेत्रों में मतदान कर रहे हैं। मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय, राजेश मूणत तथा भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय ने मतदान में हिस्सा लिया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह कवर्धा में एक मतदान केंद्र में अपना वोट दिया। 

ANI@ANI

Chhattisgarh Chief Minister Raman Singh casts his vote at a polling booth in Kawardha.

127

1:20 PM - Nov 20, 2018

उन्होंने बताया कि मतदान सुचारू रूप से चल रहा है। कुछ मतदान केंद्रों में ईवीएम में खराबी के कारण कुछ देर तक मतदान बाधित होने की सूचना है।अ​धिकारियों ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र बिन्द्रानवागढ़ के दो मतदान केन्द्रों आमामोरा और मोढ़ में सुबह सात बजे से दोपहर तीन तक बजे तक तथा शेष सभी 72 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान समय सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे निर्धारित है। राज्य के गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद, कबीरधाम, जशपुर और बलरामपुर जिले के कुछ हिस्से नक्सल प्रभावित है। इन जिलों में सुरक्षा बल के जवानों को बड़ी संख्या में तैनात किया गया है।

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के मतदान में मतदाता जिन 1079 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे उनमें कसडोल सीट से विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल और रमन मंत्रिमंडल के नौ सदस्य रायपुर दक्षिण सीट से बृजमोहन अग्रवाल, रायपुर पश्चिम से राजेश मूणत, भिलाई से प्रेम प्रकाश पांडेय, बैकुंठपुर से भैयालाल राजवाड़े, मुंगेली से पुन्नूलाल मोहिले, प्रतापपुर से रामसेवक पैकरा, बिलासपुर से अमर अग्रवाल, कुरूद से अजय चंद्राकर और नवागढ़ से दयालदास बघेल शामिल हैं।

वहीं मतदाता अंबिकापुर से विधानसभा में विपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव, पाटन से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, सक्ति से कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत, दुर्ग ग्रामीण से सांसद ताम्रध्वज साहू, मरवाही से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और कोटा से उनकी पत्नी रेणु जोगी के भाग्य का भी फैसला करेंगे।दूसरे चरण के 72 सीटों में से 17 सीट अनुसूचित जनजाति के लिए तथा नौ अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।राज्य में इससे पहले हुए चुनावों में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ही आमने सामने रहती थी।

लेकिन इस बार के चुनाव में जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसढ़ (जे) और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन द्वारा चुनाव लड़ने से कुछ सीटों पर मुकाबला त्रिकोणीय होने की संभावना है।छत्तीसगढ़ में पहले चरण में राज्य के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के सात जिले और राजनांदगांव जिले की 18 सीटों के लिए इस महीने की 12 तारीख को मतदान हुआ था। इस दौरान इस क्षेत्र के 76 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने मतदान में भाग लिया था। 11 दिसंबर को मतों की गिनती की जाएगी।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement