पेट्रोल पंपों की हड़ताल पर बोले केजरीवाल- गुंडागर्दी बंद करे मोदी सरकार

img

नई दिल्ली, सोमवार, 22 अक्टूबर 2018। दिल्ली में डीजल और पेट्रोल पर मूल्य वर्धित कर (वैट) नहीं घटाने के विरोध में आज दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन ने विरोध बुलाया है। राष्ट्रीय राजधानी में 400 पेट्रोल पंप और उनसे जुड़े सीएनजी स्टेशन बंद रहेंगे। वहीं, इसी बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस हड़ताल के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।

केजरीवाल ने सोमवार को ट्वीट किया कि पेट्रोल पंप के मालिकों ने हमें निजी तौर पर बताया है कि ये भाजपा प्रायोजित हड़ताल है, जो सक्रिय रूप से तेल कंपनियों द्वारा समर्थित हैै। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने पेट्रोल वालों को धमकी दी है कि जो हड़ताल नहीं करेगा, उस पर इनकम टैक्स की रेड कराई जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने आगे लिखा कि भाजपा वाले दिल्ली वालों को तंग करना बंद करें, ये दिन-दहाड़े गुंडागर्दी बंद करें। उन्होंने कहा कि पिछले चार सालों में पेट्रोल पर अनाप-शनाप टैक्स मोदी जी ने लगाया है, हमने नहीं लगाया। मोदी जी टैक्स कम करें और जनता को राहत दें। हम मांग करते हैं कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए। केजरीवाल ने पूछा कि केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल को जीएसटी में क्यों नहीं ला रही।

दिल्ली के सीएम ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि चार महानगरों की तुलना में दिल्ली में तेल की कीतमें सबसे कम हैं। मुंबई जहां तेल की कीमतें सबसे ज्यादा हैं, वहां के पेट्रोल पंप हड़लात पर क्यों नहीं हैं? उन्होंने इसके पीछे तर्क दिया की मुंबई में भाजपा की सरकार है और इसीलिए वहां हड़ताल नहीं हुई है। यही नहीं, उन्होंने भाजपा से दिल्ली के लोगों से माफी मांगने को कहा। बता दें कि दिल्ली के आसपास हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पंपों पर डीजल और पेट्रोल सस्ता मिल रहा है, लेकिन दिल्ली सरकार के वैट कम नहीं करने के कारण यहां पर पेट्रोल-डीजल महंगा है। पेट्रोल पंप मालिक दिल्ली सरकार से वैट में कमी करने की मांग कर रहे हैं। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement