मुझे कार्यक्रम में महज 20% हिन्दू ही बुलाते हैं- आजाद

img

लखनऊ, गुरूवार, 18 अक्टूबर 2018। मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान देश में बढ़ रही सांप्रदायिक ताकतों का जिक्र करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने दुख व्यक्त किया। लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में आजाद ने कहा कि मैं युवा कांग्रेस के दिनों से देशभर में प्रचार कर रहा हूं। लेकिन अब वक्त बदल रहा है और कार्यक्रम में बुलाने वाले हिन्दू-भाईयों और नेताओं की संख्या में गिरावट हुई है।

दुखी आजाद ने आगे कहा कि पिछले चार सालों में मैंने पाया है कि अपने कार्यक्रमों में बुलाने वाले 95 फीसदी हिन्दू भाई और नेता हुआ करते थे लेकिन अब इनकी संख्या में खासी गिरावट आई है और वह महज 20 फीसदी रह गई है। उन्होंने कहा कि कि ये सारी चीजें बताती हैं कि कुछ गलत हो रहा है। आज मुझे अपने कार्यक्रमों में बुलाने से आदमी डरता है कि इसका वोटर पर क्या असर होगा?

ANI UP@ANINewsUP

Since the days of the Youth Congress, I have been campaigning across the country from Andaman Nicobar to Lakshadweep. 95 per cent of those who used to call me were Hindu brothers and leaders, and just 5 per cent were Muslim brothers: Ghulam Nabi Azad, Congress. (17.10.18)

8:49 AM - Oct 18, 2018

दरअसल, अपने वक्तव्य के दौरान गुलाम नबी आजाद ने यह बताने का प्रयास किया कि जब से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बने हैं तब से हिन्दू-मुसलमानों के बीच में दूरियां पैदा हुई हैं और सांप्रदायिक माहौल खराब हुआ है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बयान देते हुए कांग्रेस को ही निशाने पर खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा था कि मैं चुनाव प्रचार-प्रसार में इसलिए नहीं जाता क्योंकि इससे पार्टी के वोट कटते हैं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement