गुजरात में यूपी-बिहार के लोगों पर हमला

img

  • PM को भी वाराणसी जाना है'- कांग्रेस

गांधी नगर, सोमवार, 08 अक्टूबर 2018। गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 महीने की बच्ची से रेप की घटना के बाद बिहार-उत्तर प्रदेश के लोगों सहित गैर-गुजरातियों पर कथित तौर पर हमला होने की घटना राजनीतिक रंग ले चुकी है. कांग्रेस इस मुद्दे को राजनीतिक रंग देने में जुट गई है. एक तरफ जहां कांग्रेस के विधायक अल्पेश ठाकोर ने सोमवार को गुजरात बंद की घोषणा कर दी है वहीं मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही चुनौती दे दी है. हालांकि हमला मामले में पुलिस ने अब तक 342 लोगों को गिरफ्तार किया है.

न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा, 'पीएम के गृह राज्य (गुजरात) में अगर यूपी, बिहार और एमपी के लोगों को मार-मार के भगाया जाएगा तो एक दिन पीएम को भी वाराणसी जाना है, ये याद रखना. वाराणसी के लोगों ने उन्हें गले लगाया और पीएम बनाया था.' इस बीच कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने घोषणा की कि इन हमलों के मद्देनजर उनके समर्थकों के खिलाफ दर्ज किये गये ‘‘झूठे मामलों’’ को यदि सरकार ने वापस नहीं लिया तो वह 11 अक्टूबर से ‘सद्भावना’ उपवास करेंगे.

गुजरात के कई हिस्सों में गैर- गुजरातियों, खासतौर पर उत्तर प्रदेश और बिहार के रहने वाले लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. गत 28 सितम्बर को एक बच्ची के साथ कथित रूप से बलात्कार करने के लिए बिहार के एक निवासी को गिरफ्तार किये जाने के बाद गैर-गुजरातियों को निशाना बनाया गया और सोशल मीडिया पर घृणा संदेश फैलाये गये.

पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने पत्रकारों को बताया, ‘मुख्य रूप से छह जिले (हिंसा से) प्रभावित हुए है. मेहसाणा और साबरकांठा सबसे अधिक प्रभावित हुए है. इन जिलों में, 42 मामलें दर्ज किये गये है और अब तक 342 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जांच के दौरान आरोपियों के नाम सामने आने के बाद और लोगों को गिरफ्तार किया जायेगा.’

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement