वन नेशन वन इलेक्शन वैचारिक रूप से सही, लेकिन संभव नहीं- नीतीश कुमार

img

पटना, मंगलवार, 14 अगस्त 2018। वन नेशन वन इलेक्शन की बढ़ती मांग के बीच बीजेपी लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा चुनाव करा सकती है. सूत्रों के अनुसार यह भी कहा जा रहा है कि इसके लिए संविधान में किसी तरह का संशोधन भी नहीं करना पड़ेगा. हालांकि राजनीतिक दल संवैधानिक प्रावधानों का हवाला देकर विरोध जता रही है.

लेकिन लोकसभा चुनाव के साथ ही 11 राज्यों के विधानसभा चुनाव कराने की बीजेपी की योजना पर कांग्रेस ने बयान देते हुए कहा कि अगर पीएम मोदी एक साथ चुनाव कराना चाहते हैं तो लोकसभा भंग कर दें. हालांकि कांग्रेस का कहना है कि अभी वन नेशन वन इलेक्शन संभव नही है. बिना संविधान में संशोधन यह संभव नहीं है.

वहीं, एनडीए में शामिल जेडीयू के प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का भी कहना है कि इस चुनाव में वन नेशन वन इलेक्शन संभव नहीं है. लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ नहीं कराया जा सकता है. हालांकि उन्होंने बीजेपी के विचारों पर अपनी सहमति जताते हुए कहा कि, यह वैचारिक रूप से सही है.

ANI@ANI

Is election mein yeh possible nahi hai ki Lok Sabha aur sabhi Vidhan Sabha ka chunav ek sath kiya jaaye. Yeh sambhav nahi hai. Vyacharik roop se yeh sahi hai: Bihar CM Nitish Kumar on #OneNationOneElection

2:03 PM - Aug 14, 2018

गौरतलब है कि देश में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की पुरजोर वकालत करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि इससे चुनाव पर बेतहाशा खर्च पर लगाम लगाने और देश के संघीय स्वरूप को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी. सोमवार को इस आशय से संबंधित विधि आयोग को लिखे पत्र में अमित शाह ने कहा कि एक साथ चुनाव कराना केवल परिकल्पना नहीं है बल्कि एक सिद्धांत है जिसे लागू किया जा सकता है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement