जम्मू कश्‍मीर में राष्‍ट्रगान का अपमान

img

  • सम्‍मान में नहीं खड़े हुए छात्र

नई दिल्ली, गुरूवार, 05 जुलाई 2018। भारत का राष्ट्रीय झंडा ‘तिरंगा’ व राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ सवा सौ करोड़ भारतीयों के मान-सम्मान के प्रतीक हैं। भारतीय फौज के अनेक शहीद इनकी रक्षा करते हुए अपनी जान की आहुति दे गए। भारतीय संविधान के अनुसार राष्ट्रगान के दौरान वहां मौजूद प्रत्येक व्यक्ति को सावधान मुद्रा में खड़े रहने के कड़े निर्देश हैं। लेकिन देश में कई लोग ऐस भी हैं जो राष्ट्रगान का अपमान करने से नहीं चूकते। ऐसा ही एक मामला जम्‍मू-कश्‍मीर की शेर-ए-कश्‍मीर यूनिवर्सिटी का सामने आया है। जहां कुछ छात्र राष्ट्रगान के सम्मान के लिए खड़े नहीं हुए।

दरअसल यूनिवर्सिटी में 4 जुलाई को दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया था, जिस दौरान राष्ट्रगान का अपमान किया गया। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दिखाई दे रहा है कि सेरेमनी के दौरान जब राष्ट्रीय गान बज रहा था, तब ज्यादातर बच्चे खड़े हो गए लेकिन कुछ स्टूडेंट्स अपनी सीट से नहीं उठे। इस घटना से संबंधित और जानकारी आने का इंतजार किया जा रहा है। इस यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि के रूप में भाग ले चुके हैं। 

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब जम्मू कश्मीर में राष्ट्रगान का अपमान किया हो। इसी तरह की घटना पिछले वर्ष नवंबर में जम्‍मू के राजौरी स्थित यूनिवर्सिटी में हुई थी। जहां बाबा गुलाम शाह बादशाह यूनिवर्सिटी के दो छात्र राष्‍ट्रगान के समय खड़े नहीं हुए थे। इसके बाद उन पर राष्‍ट्रगान के अपमान का केस दर्ज किया गया था। इस वर्ष मार्च में केरल के कोच्चि में स्‍टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के नेता को इसी तरह की घटना के बाद सस्‍पेंड कर दिया गया था।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement