पाठ्यक्रम में पढ़ेंगे इमरजेंसी की पूरी कहानी, भाजपा की जुबानी

img

जयपुर, मंगलवार, 26 जून 2018। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय जल्द ही इमरजेंसी की पूरी कहानी को लेकर स्कूल और कॉलेज के पाठ्यक्रम में जोड़ने जा रहा है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को यहां राजस्थान के प्रदेश भाजपा मुख्यालय में कहा है कि अभी तक इमरजेंसी की आधी-अधूरी बात को ही स्कूल और कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने पाठ्यक्रम में पढ़ा है, लेकिन भाजपा सरकार अब इमरजेंसी की पूरी कहानी को लेकर स्कूल-कॉलेज के पाठ्यक्रम में शामिल करेगी।

जिससे देश की भावी पीढ़ी और मौजूदा नौजवान यह जान सके कि आपातकाल के दौरान प्रेस, न्यायपालिका और सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ देश की आम जनता ने क्या जुल्म सहे थे। जावड़ेकर ने कहा कि 43 साल पहले जो कुछ देश में हुआ, वह लोकतंत्र के लिए काला धब्बा था, पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी ने सत्ता की लालसा के चलते इमरजेंसी जैसा कदम उठाया था।

इस दौरान पूरा देश एक जेलखाना बना रहा। उन्होंने कहा कि संजय गांधी की सोच तो यह थी कि अदालतों पर ही पाबंदी लगा दी जाए। जावड़ेकर ने कहा कि इमरजेंसी को लेकर अब यह जरूरी हो गया है कि पाठ्यक्रम में बदलाव किया जाए, जिससे इमरजेंसी को लेकर पूरी बात देश के नौजवानों को पता चल सके।

 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement