कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन होगा ज्यादा आसान

img

नई दिल्ली, गुरूवार, 21 जून 2018। जम्मू कश्मीर में भाजपा और पीडीपी के बीच गठबंधन टूटने के बाद वहां पर राज्यापाल शासन लागू हो चुका है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा इसे मंजूरी मिलने के साथ ही घाटी में फिर से राज्यापाल शासन लगाया जा चुका है. इसके बाद केंद्र ने छत्तीसगढ़ कैडर के आईएएस अफसर बीवीआर सुब्रमण्यम को जम्मू एंड कश्मीर का मुख्य सचिव बनाकर भेज दिया है.

इस मौके पर राज्य के डीजीपी एसपी वैद ने कहा, राज्यपाल शासन के दौरान आतंकियों के खिलाफ चलाए जाने वाले ऑपरेशन आसानी से किए जा सकेंगे. एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में वैद ने कहा, आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी रहेंगे. उन्होंने कहा, पिछले दिनों ऑपरेशन बंद थे, लेकिन अब ये फिर से चलेंगे. इस दौरान ऐसे ऑपरेशन को अंजाम देना ज्यादा आसान होता है.

गवर्नर एनएन वोहरा ने सुरक्षा एजेंसियों और सेना प्रमुख विपिन रावत के साथ इसी मुद्दे पर मीटिंग की थी. सूत्रों के अनुसार, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, 'अब जम्मू एंड कश्मीर का प्रशासन सीधे तौर पर केंद्र के हाथ में होगा, सुरक्षाबलों को फ्री हैंड मिलेगा. ऐसे में यहां चलने वाले ऑपरेशन के दौरान राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं होगा. चुनी हुई सरकार की अपनी मजबूरियां हैं.'

सुब्रमण्यम रह चुके हैं मनमोहन सिंह के निजी सचिव
बीवीआर सुब्रमण्यम 1987 बैच के आईएएस अफसर हैं. उन पर वह अब तक छत्तीसगढ़ के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) की जिम्मेदारी थी. वह 2002 से 2007 तक पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के निजी सचिव रह चुके हैं. जम्मू कश्मीर में वह मुख्य सचिव बीबी व्यास की जगह ले रहे हैं.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement