अहमद पटेल की ममता बनर्जी से मुलाकात

img

नई दिल्‍ली, सोमवार, 18 जून 2018। यूपीए अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार और कांग्रेस के 'चाणक्‍य' माने जाने वाले अहमद पटेल ने नीति आयोग की बैठक में हिस्‍सा लेने आईं पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी से रविवार को मुलाकात की.

उनकी मुलाकात इसलिए बेहद दिलचस्‍प मानी जा रही है क्‍योंकि अभी तक कांग्रेस की अगुआई वाली विपक्षी एकजुटता के प्रति ममता बनर्जी ने बहुत दिलचस्‍पी नहीं दिखाई है. यह भी कहा जाता है कि राहुल गांधी को विपक्ष का नेता मानने के लिए भी ममता बनर्जी तैयार नहीं हैं. इसके इतर उन्‍होंने तेलंगाना के मुख्‍यमंत्री के चंद्रशेखर राव के साथ मिलकर गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेसी, फेडरल फ्रंट बनाने की वकालत की है.

मुलाकात के मायने
लिहाजा इन सबके बीच इस मुलाकात के बाद ये संकेत निकल रहे हैं कि सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ विपक्षी गठबंधन में शामिल होने में कांग्रेस की रूचि हो सकती है. इस संबंध में तृणमूल कांग्रेस से जुड़े एक सूत्र ने कहा, ''ममता से अहमद पटेल की मुलाकात राजनीतिक महत्व रखती हैं क्योंकि संभावित तौर पर कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने उन्हें मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए कहा था. ममता बीजेपी के खिलाफ सभी दलों को एकजुट करने में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं और स्पष्ट तौर पर कांग्रेस भी इसका हिस्सा बनना चाहती है.''

इससे साफ संकेत निकलता है कि कांग्रेस विपक्ष की धुरी बनने के लिए तो तैयार है ही लेकिन यदि उसको अगुआई का मौका नहीं मिलता तो 2019 में पीएम मोदी के चुनावी रथ को रोकने के लिए वह किसी अन्‍य गठबंधन का हिस्‍सा भी बनने को तैयार दिखती है. सूत्रों के हवाले से यह भी कहा जा रहा है कि अहमद पटेल ने ममता बनर्जी से राज्‍यसभा में उपसभापति के चुनाव में कांग्रेस प्रत्‍याशी के पक्ष में समर्थन भी मांगा.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement