'नापाक' हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाक

img

गोलीबारी में 4 लोगों की मौत

श्रीनगर, बुधवार, 23 मई 2018। जम्मू-कश्मीर की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की नापाक हरकत थमने का नाम नहीं ले रही है. पिछले तीन दिन से लगातार पाकिस्तानी सेना सीजफायर का उल्लंघन कर रही है. जम्मू, सांबा व कठुआ जिलों में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की मंगलवार रातभर गोलीबारी हुई. इस गोलीबारी में चार स्थानीय नागरिकों की मौत की पुष्टि हुई है, जबकि 30 से ज्यादा नागरिक घायल बताए जा रहे हैं.

हजारों लोग घर छोड़ने को हुए मजबूर
आर.एस.पुरा, अरनिया, रामगढ़ व हीरानगर क्षेत्रों के सीमावर्ती गांवों में गोलीबारी के साथ स्थिति खराब होती जा रही है. गोलीबारी के कारण ग्रामीण पलायन करने को मजबूर है. परिवारों के साथ सुरक्षित जीवन यापन करने की तलाश में अब तक 40 हजार से ज्यादा लोगों को घर छोड़ना पड़ा है. सीमापार से हो रही गोलीबारी में नागरिकों के जीवन, मवेशियों व संपत्तियों के लिए जोखिम की स्थिति बनी हुई है.

भारतीय सेना दी रही माकूल जवाब
बुधवार को सीमा पर हुई गोलीबारी के बाद एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर जिले के बिजबेहरा इलाके के गोरीवान चौक पर आंतकवादियों ने सुरक्षा बलों के गश्ती दल पर एक ग्रेनेड फेंका, जिससे कम से कम छह नागरिक घायल हो गए. आधिकारिक बयान के कुछ देर बाद ही खबर आई कि 6 में से 4 नागरिकों ने दम तोड़ दिय़ा है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी सेना को माकूल जवाब दिया जा रहा है. सेना के सीजफायर में आतंकी किसी बड़ी वारदात को अंजाम ना दे सके, इसके लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

8 महीने की बच्ची ने तोड़ा था दम
उल्लेखनीय है कि इससे पहले सोमवार (21 मई) को पाकिस्तान की ओर से की गए सीजफायर उल्लंघन से अखनूर के केरी बट्टल इलाके में गोली लगने से एक आठ महीने के बच्चे की मौत हो गई थी. बच्ची अपने परिवार के साथ घर के बाहर सो रही थी, तभी पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई. जब तक परिवार वाले बच्ची को अस्पताल ले जा पाते उसने दम तोड़ दिया. 

18 मई को बीएसफ का जवान हुआ शहीद
18 मई को आरएस पुरा और अरनिया सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया था जिसमें एक बीएसएफ जवान शहीद हो गया था, जबकि 5 स्थानीय लोगों की मौत हो गई थी.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement