मोतिहारी बस हादसाः मृतकों की संख्या पर सस्पेंस बरकरार, हो रहे कई खुलासे

img

पटना, शुक्रवार, 04 मई 2018। मुजफ्फरपुर से दिल्ली जा रही बस गुरुवार (3 अप्रैल) को हादसे का शिकार हो गई. हादसा इतना भीषण था कि बस में सवार 5 से 6 लोगों को ही बचाया जा सका है. वहीं, बस में कितने यात्री थे और कितने लोगों की मौत हुई है यह निश्चित नहीं हुई है. हालांकि आपदा प्रबंधन ने मृतकों की संख्याओं की पुष्टि की थी जिसमें पहले उन्होंने 12 मृतकों की पुष्टि की. वहीं, हादसे के घंटो बाद उन्होंने 8 लोगों के मौत होने की पुष्टि की. लेकिन अब आपदा प्रबंधन का कहना है कि हादसे में अब तक किसी व्यक्ति की लाश नहीं मिली है. इसके अलावा जिस बस का हादसा हुआ है उसे लेकर कई खुलासे भी हो रहे हैं. जिससे प्रशासन में भी हड़कंप मचा हुआ है.

एफएसएल की टीम कर रही है जांच
मुजफ्फरपुर से दिल्ली की ओर जा रही बस गुरुवार को मोतिहारी स्थित कोटवा थाना के एनएच-28 पर बागरा के पास गड्ढे में गिर गई. इस हादसे में कितने लोगों की मौत हुई है इसपर सस्पेंस अभी खत्म नहीं हुआ है. घटना स्थल पर एफएसएल की टीम जांच कर रही है. और की तरह के सैंपल ले रही है. वहीं, एनडीआरएफ की टीम का कहना है कि यहां कोई शव और शव के साक्ष्य नहीं मिले है. हालांकि यह बड़ा संशय है कि बस हादसे में किसी की मौत नहीं हुई है.

आपदा प्रबंधन ने कहा नहीं हुई किसी की मौत
आपदा प्रबंधन के द्वारा भी घटना के बाद बस में यात्रियों के सवार होने के बारे में कोई निश्चित जानकारी नहीं है. हादसे के तुरंत बाद बताया गया था कि बस में 32 से 40 लोग सवार थे. वहीं, बाद में कहा गया कि बस में केवल 13 लोग सवार थे और गोपालगंज से 25 लोग सवार होने थे. जबकि अब आपदा प्रबंधन का कहना है कि हादसे में किसी की मौत नहीं हुई है. उनका कहना है कि हादसे के बाद किसी परिवार ने संपर्क नहीं किया है. और घटना स्थल से किसी का शव भी बरामद नहीं हुआ है.

हादसे में घायल ने कहा
बस हादसे में घायल आदित्य नाम के शख्स का कहना है कि बस में करीब 20 लोग सवार थे. उन्होंने बताया कि बस चलने के डेढ़ घंटे के बाद हादसा हुआ. उन्होंने लोगों को हादसे में झुलसते हुए देखा है. हालांकि आदित्य की हालत ठीक नहीं थी. वह हादसे के बारे में ज्यादा कुछ बताने की हालत में नहीं था.

किसी भी बस को दिल्ली जाने की परमिट नहीं 
मोतिहारी में जिस बस का हादसा हुआ है उसे लेकर की खुलासे हुए हैं. परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला ने कहा कि जिस बस का हादसा हुआ है वो यूपी के इटावा की है. उन्होंने कहा कि बिहार से दिल्ली के लिए अभी किसी बस को परमिट नहीं दिया गया है. ऐसे में यह बड़ा सवाल है कि बिहार से सैकड़ो किलोमीटर दूर जाने वाली बस दिल्ली बिना परमिट के ही पहुंचती थी. ऐसे में परिवहन विभाग पर भी सवालों के घेरे में है. इस खुलासे के बाद प्रशासन में हड़कंप मचा है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement