जब बाबू बजरंगी की सजा बरकरार है तो कोडनानी कैसे हुई बरी- हार्दिक पटेल

img

अहमदाबाद, शुक्रवार, 20 अप्रैल 2018। गुजरात के नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में पाटीदारा नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि जब बाबू बजरंगी की सजा को बरकरार रखी गई है तो माया कोडनानी को कैसे छोड़ा जा सकता है। आपको बता दें कि, 28 फरवरी 2002 को अहमदाबाद के नरोदा पाटिया इलाके में हिंसा हुई थी। जिसमें  97 लोगों की मौत हो गई जबकि 33 लोग जख्मी हुए थे। 

इस मामले में माया कोडनानी, बाबू बजरंगी समेत 32 लोगों को विशेष अदालत ने दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई थी। जिसके बाद इन लोगों ने विशेष अदालत के फैसले को गुजरात हाई कोर्ट में चुनौती दी। इस मामले में हाई कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए माया कोडनानी को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है। जबकि बाबू बजरंगी समेत 32 लोगों की सजा को बरकरार रखा है।

ANI@ANI

2h

2002 Gujarat riots case(Naroda Patiya): Gujarat High Court acquits Maya Kodnani, Babu Bajrangi's conviction upheld. pic.twitter.com/XPCejIsE64

ANI@ANI

2002 Gujarat riots case (Naroda Patiya): Out of the 32 convicts in the case, Gujarat High court acquitted 17 people including Maya Kodnani; conviction of 12 was upheld, verdict on 2 others awaited, 1 accused is dead.

12:29 PM - Apr 20, 2018

गौरतलब है कि, बाबू बजरंगी को विशेष अदालत ने हत्या-षड्यंत्र रचने का दोषी ठहराते हुए मौत तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, जबकि अन्य लोगों को आजीवन कारावास की सजा दी थी। वहीं, माया कोडनानी को 28 साल की सजा हुई थी। फिलहाल, कोडनानी को हाई कोर्ट ने बरी कर दिया है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement