NIA पिंजरे का तोता ही नहीं, अंधा और बहरा भी है- ओवैसी

img

नई दिल्ली, गुरूवार, 19 अप्रैल 2018। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद की मक्‍का मस्जिद विस्‍फोट मामले में एनआईए के फैसले को लेकर नाराजगी जताई है। उन्होंने NIA की जांच पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि वह अंधा और बहरा है। ओवैसी यही नहीं रुके उन्होंने मस्जिद बम ब्लास्ट केस में शामिल लोगो को नाथूराम गोडसे की 'नाजायज' संतान बताया। 

ब्लास्ट में शामिल लोग गोडसे की 'नाजायज' संतान
हैदराबाद से सांसद ने कहा कि मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में कोई पीड़ित परिवार अगर विशेष अदालत के फैसले के खिलाफ अपील करना चाहता है तो मैं उसे कानूनी सहायता दिलाऊंगा। उन्होंने कहा कि लोग एनआईए को पिंजरे का तोता कहते हैं मगर मैं इसे अंधा और बहरा तोता भी कहूंगा। ओवैसी ने कहा कि आतंकवाद आज खुद में एक धर्म बन गया है। जिन लोगों ने मक्का मस्जिद, अजमेर शरीफ और समझौता एक्सप्रेस में बम धमाके कराए, वे नाथूराम गोडसे की 'नाजायज' संतान हैं।

एनआईए ने नहीं किया न्याय
इससे पहले ओवैसी ने आरोप लगाया था कि मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले को एनआईए ने सही तरीके से अदालत में नहीं रखा। मामले में न्याय नहीं हुआ है अगर इस तरह से पक्षपातपूर्ण अभियोजन जारी रहा तो आपराधिक न्याय व्यवस्था पर सवाल खड़े होंगे। बता दें कि मक्का मस्जिद बम धमाका मामले की शुरुआती जांच हैदराबाद पुलिस ने की थी।

इसके बाद (सीबीआई ने यह मामला अपने हाथ में ले लिया था। इसके बाद वर्ष 2011 में यह केस एनआईए के पास ट्रांसफर कर दिया गया था। इस मामले पर फैसला आने के बाद एनआईए ने कहा था कि वह जल्द इन आरोपियों की रिहाई पर कोई प्रतिक्रिया देगी।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement