डोकलाम में किसी भी हालात से निपटने को तैयार- निर्मला सीतारमण

img

देहरादून, सोमवार, 26 मार्च 2018। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि सैन्य बलों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है और देश डोकलाम में किसी भी हालात से निपटने के लिए तैयार है। शहर में भारतीय सैन्य अकादमी और राष्टीय रक्षा अकादमी में उत्तराखंड से चयनित युवाओं को सम्मानित करने के बाद उन्हें संबोधित करते हुए निर्मला ने कहा, ‘‘आने वाले समय में आप सभी एक अत्याधुनिक सेना का हिस्सा बनने जा रहे है। आर्मी, नेवी तथा एअर फोर्स (थल, जल और वायुसेना) को आधुनिक बनाने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बहुत सी नई पहल की जा रही है।'' रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि सरकार सैनिक तथा उनके परिवारों को हर सहायता देने हेतु सदैव तत्पर है। उन्होंने उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में आधुनिक सुविधाओं युक्त कमांड अस्पताल स्थापित करने की बात भी कही।

भारत की रक्षा में उत्तराखंड के योगदान की सराहना करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि थल सेनाध्यक्ष जनरल रावत भी उत्तराखण्ड के हैं। यहां तक कि प्रदेश के हर परिवार से एक सदस्य सेना में है। बाद में संवाददाताओं से संक्षिप्त बातचीत में डोकलम विवाद के बारे में पूछे जाने पर रक्षा मंत्री निर्मला ने कहा कि सेना की तैयारी में कही कोई कमी नहीं है और किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए वह पूरी तरह से तैयार है।एनसीसी के मसले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान की बाबत पूछे जाने पर रक्षा मंत्री ने कहा कि इस पर बहुत टिप्प्णी हो चुकी है। 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं एनसीसी को बहुत अच्छा मानती हूं। इससे युवाओं को देशभक्ति की शिक्षा मिलती है।'' कार्यक्रम में मौजूद थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कहा कि उत्तराखंड के लोग भारतीय सेना में बढचढ कर हिस्सा लेते हैं। उन्होंने कहा कि सेना के जवानों को लोग बहुत सम्मान की नजर से देखते हैं। मुख्यमंत्री रावत ने कहा मुख्यमंत्री आवास पर में सैनिकों का सम्मान समारोह आयोजित होने से वह गौरवान्वित अनुभव कर रहे हैं। उन्होंने किसी भी प्रकार के सहयोग के लिए सैन्य अधिकारियों का मुख्यमंत्री आवास में स्वागत करते हुए कहा कि सरकार हर कदम पर सैनिक तथा उनके परिवारों के साथ है।

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा रक्षा जैसे अहम मंत्रालय की जिम्मेदारी निर्मला सीतारमण को दिये जाने का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि इससे यह संदेश गया है कि देश अपनी बेटियों पर भरोसा करता है और बेटियाँ सब कुछ कर सकती हैं। कार्यक्रम में रक्षा मंत्री निर्मला, थल सेनाध्यक्ष जनरल रावत और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वर्ष 2014 से 2018 तक आइएमए और एनडीए में चयनित उत्तराखण्ड के 140 युवाओं को प्रशस्ति पत्र तथा 50-50 हजार रूपये की धनराशि प्रदान करके सम्मानित किया।

इस अवसर पर विक्टोरिया क्रॉस पदक प्राप्त दिवंगत गब्बर सिंह नेगी, दिवंगत दरबान सिंह नेगी, दिवंगत वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली, पूर्व सेना प्रमुख दिवंगत वीसी जोशी एवं दिवंगत बाबा जसवंत सिंह के परिजनों के साथ ही अपने पति की शहादत के पश्चात सेना में कमीशन प्राप्त करने वाली कै. प्रिया शर्मा सेमवाल, संगीता मल्ल, फलाईंग अफसर अनुपमा जोशी व नेवल अफसर वर्तिका जोशी की मां डॉ अल्पना जोशी को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर तीन पीढ़ियों से सेना में अपनी सेवाएं दे रहे परिवारों को भी सम्मानित किया गया।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement