JNU बवाल: प्रोफेसर के खिलाफ 8 FIR दर्ज

img

आज होगी पूछताछ

नई दिल्ली, मंगलवार, 20 मार्च 2018। जेएनयू में यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर को लेकर बवाल जारी है, छात्रों ने उसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दिल्ली पुलिस ने छात्रों के विरोध प्रदर्शन के बाद प्रोफेसर के खिलाफ 8 एफआईआर दर्ज कर ली है। पुलिस सूत्रों के अनुसार आरोपी से आज पूछताछ की जा सकती है। वहीं जेएनयू के प्रोफेसर अशोक कदम ने 17 छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। उन्होंने छात्रों पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है।

छात्रों ने थाने का किया घेराव 
सोमवार को जेएनयू के सैकड़ों छात्रों ने देर शाम वसंत कुंज थाने का घेराव किया और वसंत कुंज थाने के पास की सड़क को घंटों जाम कर प्रदर्शन किया। इस बीच प्रोफेसर की गिरफ्तारी की बात सामने आने पर छात्रों ने खुशी भी मनाई, लेकिन कुछ देर बाद जब उन्हें पता चला कि यह बात झुठी है तो छात्र भड़क गए। और देर शाम छात्रों ने जुलूस की शक्ल में वसंत कुंज थाने की ओर कूच किया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने थाने के पास पहुंच कर प्रोफेसर की गिरफ्तार  की मांग की। बाद में छात्र वसंत कुंज थाने के बाहर सड़क पर धरने पर बैठ गए। इस दौरान पुलिसकर्मियों और छात्रों के बीच हल्की झड़प भी हुई। 

छात्रों ने दी धरने ​की चेतावनी 
छात्रसंघ की अध्यक्ष गीता का कहना है कि पुलिस के समक्ष चार छात्राओं ने प्रोफेसर अतुल जौहरी के खिलाफ शिकायत दी थी लेकिन पुलिस ने एक ही लड़की के बयान पर एफआईआर दर्ज किया है। उन्होंने स्थानीय पुलिस पर जेएनयू प्रशासन के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया है। छात्र संघ ने चेतावनी दी है कि यदि प्रोफेसर जौहरी को गिरफ्तार नहीं किया गया तो छात्र सड़क पर ही धरने पर बैठे रहेंगे। धरना तभी समाप्त होगा जब प्रोफेसर को गिरफ्तार कर लिया जाता है। 

जेएनयू प्रोफेसर की गिरफ्तारी क्यों नहीं : स्वाति
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने जेएनयू में प्रोफेसर द्वारा 9 लड़कियों से छेड़छाड़ के मामले में पुलिस की प्रतिक्रिया पर चिंता जाहिर की है। स्वाति ने कहा कि 9 लड़कियों के साथ छेड़छाड़ का यह मामला काफी हैरान करने वाला है। सबसे बड़ी बात यह कि दिल्ली पुलिस ने अभी तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि युवा लड़कियों की सुरक्षा को लेकर यह चिंता वाली बात है। आयोग ने पुलिस से इस मामले की जांच और आरोपी को गिरफ्तार नहीं करने का कारण पूछा है। वहीं जेएनयू के रजिस्ट्रार को नोटिस जारी कर इंटर्नल कमेटी की ओर से इस मामले में की कार्रवाई ओर आरोपी प्रोफेसर के ऊपर पहले कभी कोई इस तरह के आरोप लगे हैं इसकी जानकारी मांगी है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement