लोकसभा में हंगामे की भेंट चढ़ा प्रश्नकाल

img

नई दिल्ली: लोकसभा उपचुनाव में मिली पराजय के बाद अब केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा नीत राजग सरकार को संसद में पहले अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ रहा है. आंध्र प्रदेश के मुद्दे पर लोकसभा में वाईएसआर कांग्रेस के वाई. वी. सुब्बारेड्डी और तेदेपा के टी. नरसिंहन ने अविश्वास प्रस्ताव पेश किया, हालांकि सदन में व्यवस्था नहीं होने के कारण इसे आगे नहीं बढ़ाया जा सका. सदन में कई मुद्दों पर सदस्यों के हंगामे के कारण एक बार के स्थगन के बाद लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिये स्थगित कर दी गई.

दोपहर 12 बजे बैठक फिर शुरू होने पर विभिन्न दलों के सदस्य अध्यक्ष के आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे. इस दौरान अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन में आवश्यक कागजात सभापटल पर रखवाये. इसके बाद अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें वाई. वी. सुब्बारेड्डी और टी. नरसिंहन का सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस मिला है. वह इस विषय पर कर्तव्य से बंधी हैं, लेकिन सदन में व्यवस्था नहीं है. उन्होंने कहा कि वह आग्रह करती हैं कि सदस्य अपने स्थान पर जाएं.

अध्यक्ष के आग्रह के बावजूद सदस्यों का हंगामा जारी. इस पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘चूंकि सदन में व्यवस्था नहीं है, इसलिए वाईएसआर कांग्रेस के वाई. वी. सुब्बारेड्डी और तेदेपा के टी. नरसिंहन के अविश्वास प्रस्ताव को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता.’ आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य के दर्जे की मांग समेत विभिन्न मुद्दों पर हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही आज दसवें दिन भी बाधित रही. हंगामे के कारण सदन में आज (शुक्रवार, 16 मार्च) भी प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं चल सका .

पिछले दिनों की तरह ही तेलुगूदेशम पार्टी के सदस्य आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर आसन के समीप आ गये. तेलंगाना राष्ट्र समिति के सदस्य भी अपने राज्य में आरक्षण संबंधी मांग उठाने लगे. अन्नाद्रमुक सदस्य भी कावेरी मुद्दे को उठाते हुए आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे . राजद के जयप्रकाश नारायण यादव को अखबार की खबर की प्रति लहराते हुए देखा गया.

कांग्रेस के सदस्यों को भी अपने स्थान से कुछ मांग उठाते हुए देखा गया. इससे पहले सदन में प्रश्नकाल भी नहीं चला. सुबह सदन की बैठक शुरू होने पर उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर से नवनिर्वाचित सपा सांसदों क्रमश: प्रवीण कुमार निषाद और नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल तथा अररिया से राजद के सरफराज आलम को शपथ दिलाई गयी.

सुकमा के शहीदों और स्टीफन हॉकिंग को श्रद्धांजलि 
इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन के दिवंगत पूर्व सदस्यों उत्तमभाई हरजीभाई पटेल, बोल्ला बुल्ली रमैया तथा सुशीला बंगारू लक्ष्मण के निधन की सूचना दी. सदन ने तीनों पूर्व सदस्यों और वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग के निधन पर कुछ क्षण मौन रखकर श्रद्धांजलि दी. सदस्यों ने सुकमा में हाल ही में माओवादियों के हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को भी श्रद्धांजलि दी. अध्यक्ष ने सदस्यों को 18 मार्च से शुरू हो रहे नव संवत्सर की अग्रिम बधाई भी दी. इसके बाद उन्होंने प्रश्नकाल शुरू कराने का प्रयास किया, लेकिन विभिन्न मुद्दों पर आसन के समीप सदस्यों का हंगामा जारी रहा . हंगामा थमता नहीं देख अध्यक्ष ने सदन की बैठक दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement