कर्नाटक : कैदी की आत्महत्या मामले में जेल अधिकारियों को मानवाधिकार आयोग का नोटिस

img

बेंगलुरु : राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने कर्नाटक में परापन्ना अग्रहारा केंद्रीय कारागार के भीतर सजायाफ्ता कैदी की खुदकुशी के मामले का स्वत संज्ञान लेते हुए राज्य केमहानिरीक्षक (जेल) को नोटिस जारी कर छह हफ्ते में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. मानवाधिकार आयोग ने एक बयान में कहा, 'आयोग ने कर्नाटक के आईजी (जेल) को 6 सप्ताह में मामले में विस्तृत रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है.' 

आयोग के मुताबिक, 10 साल कारावास की सजा काट रहे एम. जयशंकर (38) ने 27 फरवरी को दाढ़ी काटने वाले ब्लेड से अपना हाथ काट कर आत्महत्या कर ली थी. आयोग ने यह भी उल्लेख किया कि राज्य के प्राधिकारियों ने तय दिशा-निर्देश के मुताबिक मौत के 24 घंटे के बाद भी उन्हें सूचित नहीं किया गया और इस कारण से निर्देश का पालन नहीं करने पर आईजी (जेल) से स्पष्टीकरण मांगा गया है.

दुष्कर्म, हत्या के मामलों में आरोपी था जयशंकर
जयशंकर दुष्कर्म और हत्या के 15 मामलों में आरोपी था. इसमें तीन मामलों में उसे दोषी करार दिया गया था. उसे अलगकोठरी में रखा गया था, आयोग ने कहा कि जेल अधिकारियों की ओर से लापरवाही बरते जाने की खबर अगर सही है तो यह गंभीर चिंता का विषय है. आयोग के मुताबिक जांच से कथित तौर पर खुलासा हुआ था कि जयशंकर अवसाद से ग्रस्ति था और उसका इलाज चल रहा था. 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement