महिला दिवस : रैंप पर एसिड अटैक पीडि़ताओं ने दिया सशक्‍तीकरण का संदेश

img

मुंबई : अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के दिन गुरुवार को मुंबई में एसिड हमलों और एसिड की बिक्री पर अंकुश लगाने के मकसद से एसिड हमलों की पीडि़ताएं रैंप पर उतरीं. मौका था ठाणे स्थित विवियाना मॉल द्वारा आयोजित एक्‍स्‍ट्राऑर्डि'नारी' कार्यक्रम के तीसरे संस्‍करण का. स्‍टॉप एसिड अटैक्‍स अभियान से जुड़ीं एसिड अटैक पीडि़ता लक्ष्‍मी अग्रवाल कार्यक्रम में बतौर मुख्‍य अतिथि शामिल हुईं.

दिखा आत्‍मविश्‍वास
एनजीओ एसिड सर्वाइवर एंड वुमेन वेलफेयर फाउंडेशन की ओर से कार्यक्रम में शामिल हुईं एसिड अटैक पीडि़ताओं ने रैंप पर आत्‍मविश्‍वास और स्‍टाइल के साथ चलने के साथ ही अत्‍याचार के खिलाफ लड़ने की इच्‍छाशक्ति दिखाकर सभी को भावविभोर कर दिया. यह कार्यक्रम उन एसिड अटैक पीडि़ताओं को सशक्‍त बनाने के लिए आयोजित किया गया, जिन्‍हें आमतौर पर समाज में अनदेखा किया जाता है.

संवार रहीं भविष्‍य
कार्यक्रम में शामिल एसिड अटैक पीडि़ताओं की कहीं न कहीं घरेलू और बाहरी हिंसा के शिकार होने की कोई कहानी है. इसके बावजूद वे अपने खिलाफ हो रही हिंसा से लड़ीं और आगे बढ़ने के लिए विभिन्‍न शैक्षिक कोर्स कर रही हैं. साथ ही नौकरी भी खोज रही हैं. इससे वे दूसरों को भी ऐसा करने और सशक्‍त बनने के लिए प्रेरित कर रही हैं.

लक्ष्‍मी ने दिया संदेश
लक्ष्‍मी अग्रवाल ने रैंप पर शो स्‍टॉपर की भूमिका निभाई. उनका कहना है कि एसिड अटैक पीडि़ता होने के कारण नई शुरुआत करना काफी कठिन होता है. हमारे दाग हमें समाज की संकुचित सोच के बारे में बताते हैं, लेकिन फिर भी रोजाना हमारे पास प्रेरित होने के लिए आशा होती है. अपराधमुक्‍त समाज की आशा भी होती है.

विवियाना मॉल दे रहा अवसर
विवियाना मॉल के मार्केटिंग विभाग की सीनियर वाइस प्रेसीडेंट रीमा प्रधान के अनुसार हर साल महिलाओं को सफलता के लिए प्रेरित करने और उनमें जागरूकता लाने के मकसद से एक्‍स्‍ट्राऑर्डि'नारी' कार्यक्रम आयोजित किया जाता है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement