गोवा के वालपोई नगर पालिका परिषद ने हटाई शिवाजी की मूर्ति

img

गोवा: गोवा के वालपोई नगर पालिका परिषद ने हाथवाड़ा जंक्शन से  छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा को हटा दिया. नगर पालिका अधिकारियों ने कहा कि जिस जगह पर शिवाजी की प्रतिमा लगाई गई थी, वह पालिका की जमीन है. साथ ही प्रतिमा लगाने से पहले पालिका से अनुमति नहीं ली गई थी. वालपोई नगर पालिका के चीफ ऑफिसर ने कहा कि शिवाजी की प्रतिमा हटाने का फैसला हमने नगर पालिका प्रशासनिक बैठक में मिलकर लिया है.

शिवाजी की प्रतिमा हटाने के बाद बढ़ा विवाद
गोवा के एक स्‍थानीय समाचार पत्र के मुताबिक, 1 मार्च की सुबह को ही शिवाजी की प्रतिमा को हाथवाड़ा जंक्शन से हटा दिया गया था. माहौल ना बिगड़े इसके लिए मूर्ति हटाने के बाद इलाके में धारा 144 लगा दी गई थी. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक शिवाजी की मूर्ति हटाए जाने के विरोध में शिवा प्रेमी एसोसिएशन ने 3 मार्च को वालपोई नगर पालिका परिषद के खिलाफ प्रदर्शन किया. शिवा प्रेमी एसोसिएशन ने विरोध जताते हुए 3 मार्च को सतारी बंद का आयोजन किया था. 

Goa: Valpoi Municipal Council has removed a statue of Chhatrapati Shivaji as it was installed on the Council's property without its permission

— ANI (@ANI) 7 March 2018

शिवाजी की प्रतिमा दोबारा उसी जगह स्थापित करने की मांग
प्रदर्शनकारी शिवाजी की प्रतिमा को दोबारा उसी जगह स्थापित करने की मांग कर रहे हैं. उनका कहना है कि शिवाजी की प्रतिमा एकता का प्रतीक है. प्रदर्शनकारियों ने वालपोई नगर पालिका परिषद के चीफ ऑफिसर सिंथिया के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. इनके मुताबिक नगर पालिका अधिकारी ने अवैध तरीके से शिवाजी की प्रतिमा को हटाया है. 

18 फरवरी को शिव प्रेमी कार्यकर्ताओं ने शिवाजी की प्रतिमा लगाई थी
बता दें कि गोवा के वालपोई शहर में 18 फरवरी को शिव प्रेमी एसोसिएशन के कार्यकर्ताओं ने पालिका की जमीन पर शिवाजी की प्रतिमा लगाने की कोशिश की थी, जिसके बाद विवाद पैदा हो गया था. पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक एक गुट के कुछ लोगों ने पालिका की जमीन पर लगे ढांचे को तोड़ कर वहां पर शिवाजी की प्रतिमा लगाने की कोशिश की थी, जिसका स्थानीय लोगों ने विरोध किया. वालपोई विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा है. 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement