कोलकाता में तोड़ी गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति

img

पोस्‍टर पर लिखा- लेनिन की मूर्ति तोड़ने का बदला

कोलकाता : त्रिपुरा में बीजेपी की जीत के बाद ढहाई गई लेनिन की मूर्ति पर हुआ हंगामा अभी थमा भी नहीं था कि मंगलवार को तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति तोड़ने का मामला सामने आया और अब कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़ दी गई. साथ ही उनकी मूर्ति पर कालिख भी पोत दी गई. जानकारी के मुताबिक, बुधवार सुबह करीब 8 बजे टॉलीगंज स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ दिया गया.

6 छात्रों पर मूर्ति तोड़ने का आरोप
रिपोर्ट्स के मुताबिक, टॉलीगंज स्थित केवाईसी पार्क में लगी श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को निशाना बनाया गया. घटना सामने आने के बाद कोलकाता पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी. जाधवपुर यूनिवर्सिटी के 6 छात्रों पर मूर्ति तोड़ने का आरोप है, जिसके बाद इन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार किए गए छात्रों में 5 छात्र, जबकि एक छात्रा है. बताया जा रहा है कि मूर्ति तोड़ने के बाद वहां लगाए गए पोस्‍टर में लिखा गया कि यह लेनिन की मूर्ति तोड़ने का बदला है. 

बीजेपी ने की आलोचना
कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़ने की बीजेपी ने कड़ी आलोचना की है. पश्चिम बंगाल में बीजेपी के जनरल सेकेटरी शांतनु वसु ने कहा है कि इस तरह की घटना होना वाकई निंजनीय है. वसु ने राज्य सरकार से इस मामले के आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए ताकि उन्हें सबक मिल सके.

BJP #WestBengal condemns barbaric act of vandalising statue of the Bharatiya Jana Sangh Bharat Keshri's founder Dr Syama Prasad Mukherjee at Keoratola Mohasoshan, Kolkata. We demand very strong action against culprits: Sayantan Basu, General Secretary, WB BJP pic.twitter.com/3B8UTsA3oI

— ANI (@ANI) March 7, 2018

गृह मंत्रालय ने कहा- ऐसे लोगों पर सख्‍त कार्रवाई हो
वहीं, गृह मंत्रालय ने देश में जगह-जगह तोड़ी जा रही मूर्तियों की घटनाओं पर चिंता जाहिर की है. गृह मंत्रालय ने कहा कि ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे लोगों पर सख्‍त कार्रवाई की जाए. इस बाबत राज्‍य सरकारों को एडवाइजरी भी जारी की गई है. गृह मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है, "ऐसे कृत्यों में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए और कानून के प्रांसगिक प्रावधानों के तहत उन पर मामले दर्ज किए जाने चाहिए." 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement