शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के निधन से आहत PM मोदी ने तस्वीरें शेयर कर किया याद

img

नई दिल्ली: कांची मठ के प्रमुख शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के निधन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेहद दुखी हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर जयेंद्र सरस्वती के साथ अपनी पुरानी तस्वीर भी ट्वीट किया है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है, 'जगदगुरु जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य के निधन से गहरा दुख हुआ है. वह लाखों भक्तों के लिए अनुकरणीय रहेंगे. उनकी आत्मा को ओम शांति.' अगले ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा, 'जगतगुरु शंकाराचार्य जयेंद्र सरस्वती सेवा कार्यों में सबसे आगे थे. उन्होंने कई ऐसे संस्थान शुरू किए जिसके चलते गरीबों और दलितों का जीवन बदल गया.'

बीजेपी के महासचिव राम माधव ने ट्वीट कर जयेंद्र सरस्वती की मौत पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने लिखा है, 'कांची के शंकराचार्य पूज्य जयेंद्र सरस्वती के समाधि की बेहद दुखद खबर. वह एक सुधारवादी संत थे. हमेशा खुद को राष्ट्र निर्माण से जोड़े रहे. दिवंगत आत्मा को शांति मिले.'

Jagadguru Pujyashri Jayendra Saraswathi Shankaracharya was at the forefront of innumerable community service initiatives. He nurtured institutions which transformed the lives of the poor and downtrodden. pic.twitter.com/s1vTpSxbbl

— Narendra Modi (@narendramodi) February 28, 2018

Deeply anguished by the passing away of Acharya of Sri Kanchi Kamakoti Peetam Jagadguru Pujyashri Jayendra Saraswathi Shankaracharya. He will live on in the hearts and minds of lakhs of devotees due to his exemplary service and noblest thoughts. Om Shanti to the departed soul. pic.twitter.com/pXqDPxS1Ki

— Narendra Modi (@narendramodi) February 28, 2018

Sad news of the Mahasamadhi of Kanchi Acharya Pujya Jayendra Saraswati maharaj. He was a reformist saint, kept himself engaged in nation-building initiatives. Reverential pranams to d departed holy soul.

— Ram Madhav (@rammadhavbjp) February 28, 2018

Shocking& saddening news of Mahasamadhi of Kanchi Acharya Pujya Jayendra Saraswati ji,revered saint, worshipped by millions.

— Suresh Prabhu (@sureshpprabhu) February 28, 2018

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा, 'कांची के शंकराचार्य पूज्य जयेंद्र सरस्वती की चौंकाने वाली और दुखद खबर. सम्मानित संत, लाखों लोगों के अनुकरणीय.'

दिल का दौरा पड़ने से निधन
तमिलनाडु में कांचीपुरम नगर में स्थित कांची कामकोटि पीठ के शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती का बुधवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद निधन हो गया. जयेन्द्र सरस्वती कांची कामकोटि पीठ के 69वें शंकराचार्य थे. वे 82 वर्ष के थे. कांची कामकोटि पीठ दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य में कांचीपुरम नगर में स्थित है. अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि 82 वर्ष के शंकराचार्य को बेचैनी की शिकायत होने पर उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया. वह पिछले कई महीनों से बीमार थे. प्राप्त जानकारी के अनुसार उन्होंने कांचीपुरम के एक अस्पताल में बुधवार सुबह अंतिम सांस ली.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement