कासगंज हिंसा के लिए पाकिस्‍तान समर्थक जिम्‍मेदार- कटियार

img

नई दिल्‍ली: भारतीय जनता पार्टी के नेता विनय कटियार ने कहा कि कासगंज हिंसा के लिए पाकिस्‍तान का समर्थन करने वाले जिम्‍मेदार हैं. न्‍यूज एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए विनय कटियार ने कहा, ''कासगंज की घटना बेहद दुर्भाग्‍यपूर्ण है. इससे पहले यहां पर इस तरह की कोई घटना नहीं हुई और हर समुदाय सद्भाव के साथ रहते रहे हैं. लेकिन कुछ तत्‍व ऐसे हैं जो पाकिस्‍तान का समर्थन करते हैं और तिरंगे का अपमान करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं.''

विनय कटियार ने कहा कि ये तत्‍व ऐसे हैं जो पाकिस्‍तान के समर्थन में नारे लगाते हैं. इसके साथ ही जोड़ा कि यूपी की योगी सरकार के कार्यकाल में इस तरह की यह पहली घटना हुई है और दोषियों को किसी भी सूरत में बख्‍शा नहीं जाएगा. उन्‍होंने कहा कि ऐसे तत्‍व केवल पा‍किस्‍तानी झंडे का सम्‍मान करते हैं और पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं. इन्‍हीं लोगों ने हमारे एक कार्यकर्ता की हत्‍या की है. इन लोगों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जानी चाहिए.

इस मसले पर केंद्रीय मंत्री साध्‍वी निरंजन ज्‍योति ने कहा कि ये घटना बताती है कि राष्‍ट्रविरोधी तत्‍व तिरंगा यात्रा को बर्दाश्‍त नहीं कर सकते. यूपी सरकार इनके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई कर रही है. ऐसी घटनाओं को बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा. इस तरह की घटनाओं का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए. इस बीच अलीगढ़ रेंज के आईजी संजीव गुप्‍ता ने कहा कि कासगंज हिंसा की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है और मजिस्‍ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

कासगंज में हिंसा
26 जनवरी की सुबह कासगंज में ‘वन्देमातरम’और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाते हुए हाथों में तिरंगा झंडा लिए कुछ युवा मोटरसाइकिलों से जुलूस निकाल रहे थे. लेकिन जुलूस जैसे ही अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र बड्डूनगर में पहुंचा तो कुछ उपद्रवी तत्वों ने बाइक सवारों पर पथराव और फायरिंग कर दी. इस फायरिंग में दो युवक अभिषेक गुप्ता उर्फ चन्दन एवं नौशाद घायल हो गए. घायल चंदन को सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई. नौशाद की हालत अभी भी गंभीर बताई जा रही है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement