सीलिंग के खिलाफ दिल्ली बंद: दुकानों पर दिखे ताले

img

व्यापारियों ने बर्तन बजाकर किया प्रदर्शन

नई दिल्लीः दिल्ली में सीलिंग के विरोध में मंगलवार को बाजार बंद का अच्छा खासा असर देखने को मिल रहा है. राजधानी दिल्ली के सभी प्रमुख बाजारों में आज दुकाने बंद रही. कई जगहों पर व्यापारियों ने इकट्ठा होकर सीलिंग के विरोध में प्रदर्शन किया. मध्य दिल्ली के करोल बाग में व्यापारियों ने बर्तन बजा कर नगर निगम के खिलाफ प्रदर्शन किया. बता दें कि कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने बंद की घोषणा की थी कि "शीर्ष न्यायालय के आदेश की आड़" में "दिल्ली नगर निगम कानून 1957 के मूलभूत प्रावधानों को ताक" पर रख सीलिंग की कार्रवाई की जा रही है.

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि दिल्ली में सीलिंग की बदहाली ने व्यापारियों को भिखारी जैसा बना दिया है. कोई मंच नहीं है जहां पर व्यापारी अपनी जायज बात भी कह सकें. कोई सुनने वाला ही नहीं है.

आप का बंद को समर्थन
आम आदमी पार्टी (आप) ने खुदरा बाजार में शतप्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की छूट देने और भाजपा शासित तीनों नगर निगमों के सीलिंग अभियान के खिलाफ मंगलवार को दिल्ली बंद का आह्वान किया है. पार्टी कार्यकर्ता दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में विरोध प्रदर्शन करेंगे. आप की विज्ञप्ति के अनुसार विरोध प्रदर्शन के पहले चरण में 23 जनवरी को आप कार्यकर्ता दिल्ली के सभी बाजार बंद कर व्यापारियों के साथ सड़कों पर उतरेगे. बंद का नेतृत्व आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय करेंगे.

उत्तरी दिल्ली में बाजारों की 110, दक्षिणी दिल्ली में 38 ईकाइयां सील
उत्तरी दिल्ली के तहत आने वाले बाजारों की करीब 80 ईकाइयों और दक्षिणी दिल्ली बाजार की 38 संपत्तियों के ऊपरी मंजिलों और बेसमेंट को नगर निगम नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर सोमवार को सील कर दिया गया. यह जानकारी अधिकारियों ने दी. उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगमों द्वारा उठाया गया यह कदम उच्चतम न्यायालय द्वारा बनाई गई निगरानी समिति ने शुरू कराया. सोमवार को एनडीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “उत्तरी दिल्ली के विभिन्न मंडलों में करीब 80 ईकाइयों को सील कर दिया गया, इनमें करोल बाग में 58, केशवपुरम में 13 और सिविल लाइन की पांच ईकाइयां शामिल हैं.”

एसडीएमसी ने एक बयान में कहा कि हॉज खास बाजार में सील की गई संपत्तियों में सार्वजनिक क्षेत्र के तीन बैंकों - एसबीआई, यूको बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा के बेसमेंट शामिल हैं.

उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने की बैठक
वहीं दूसरी तरफ दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने सीलिंग और अन्य मुद्दों पर आज तीन नगर निगमों और दिल्ली सरकार के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की. नगर निकायों द्वारा 351 सड़कों की अधिसूचना पर प्रशासन को अपनी प्रतिक्रिया जमा कराने के बाद भी यह बैठक की गई. राज निवास में हुई बैठक में शामिल दक्षिणी दिल्ली की मेयर कमलजीत सहरावत ने कहा बैठक के दौरान सीलिंग और अधिसूचना दोनों ही मुद्दों पर चर्चा की गई और साथ ही इस पर चर्चा हुई कि हम लोगों के हित के लिए बेहतर तरीके से कैसे काम कर सकते हैं. तीनों नगर निकाय और दिल्ली सरकार के बीच 351 सड़कों की अधिसूचना को लेकर वाकयुद्ध चल रहा है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement