अय्यर ने साध ली चुप्पी

img

गुजरात के नतीजों के सवाल पर फेर लिया मुंह

नई दिल्लीः अपने विवादित बयानों के चलते कांग्रेस पार्टी से बाहर निकाले गएमणिशंकर अय्यर पहली बार मीडिया के सामने चुप्पी साधे दिखे. कोलकाता में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे मणिशंकर अय्यर से जब गुजरात चुनाव नतीजों को लेकर सवाल पूछा गया तो अय्यर साहब ने किनारा कर लिया है. आमतौर पर एक बात के तीन जवाब देने वाले अय्यर साहब कई बार सवाल पूछे जाने पर मुंह फेरकर अखबार पढ़ने में व्यस्त दिखाई दिए. जानकारों की मानें तो गुजरात चुनाव के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर की गई मणिशंकर अय्यर की टिप्पणी के चलते कांग्रेस पार्टी जीती हुई बाजी हार गई.

अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'नीच' कहा था. जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने खुद के पिछड़े वर्ग से आने और इसे गुजरात के बेटे के अपमान से जोड़कर जनता के बीच रखा था. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली भी कह चुके हैं कि अय्यर के बयान के चलते गुजरात में कांग्रेस पार्टी को नुकसान झेलना पड़ा. 

#WATCH: Mani Shankar Aiyar refuses to answer a question on #GujaratElection results, at an event in #Kolkata pic.twitter.com/k1v8hBnb1Q

— ANI (@ANI) December 22, 2017

गुजरात चुनाव के पहले चरण में जहां कांग्रेस ने माहौल अपने पक्ष में कर लिया था वहीं दूसरे चरण में पार्टी को अय्यर की टिप्पणी से नुकसान उठाना पड़ा.  पीएम मोदी ने अय्यर की टिप्पणी को अपनी हर चुनावी रैली में गुजरात की अस्मिता पर हमला बताया. 

पीएम मोदी ने कहा था कि अय्यर का बयान मुगल जैसी मानसिकता को दर्शाता है. उन्होंने सूरत में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अय्यर ने पूरे गुजरात का अपमान किया है और जनता अपना वोट देकर नीच कहने वालों को जवाब दें. उन्होंने रैली में उपस्थित लोगों से पूछा कि क्या मैं नीच काम करता हूं? क्या मैं ऊंच नीच में भेद करता हूं? 

गुजरात में चुनाव प्रचार में जुट पीएम मोदी ने कहा कि भले ही मुझे नीच कहें लेकिन मैं काम गांधीजी के विचारों के अनुरूप करता हूं. मान-मर्यादा भारतीय जनता पार्टी का संस्कार है. उन्होंने आरोप लगाया कि मणिशंकर अय्यर अक्सर मुझे नीच कहते हैं. पीएम मोदी ने याद दिलाया कि गुजरात की सीएम रहने के दौरान भी कांग्रेस उनका अपमान करती रही है.

मुझे जेल भेजने की साजिश रची गई थी. उन्होंने भरोसा जताया कि जनता बताएगी कि आपने गुजरात के बेटे के साथ क्या न्याय किया? पीएम मोदी ने कहा कि कोई भी बीजेपी कार्यकर्ता उनके लिए अपशब्द नहीं कहेगा. हमारे संस्कार अनुशासन सिखाते हैं. 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement