मायावती ने UPCOCA का किया विरोध

img

बताया गरीबों, दलितों, अल्पसंख्यकों के खिलाफ

 

लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने उत्तर प्रदेश कंट्रोल ऑफ आर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट बिल (यूपीकोका) के विरोध में बयान दिया है। उन्होंने कहा कि यूपीकोका वास्तव में कानून व्यवस्था के लिए नहीं बल्कि सर्वसमाज के गरीब, दलितों, पिछड़ों व अल्पसंख्यकों के लिए ही दमन का नया हथियार साबित होगा।

मायावती ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार अपराधियों व माफियाओं को नियंत्रण करने के नाम पर केवल जाती व सम्प्रदाय विशेष के लोगों को ही शिकार बना रही है, जबकि सत्ताधारी पार्टी से जुड़े लोग प्रदेश में हर स्तर पर कानून को हाथ में लेने के साथ-साथ हर प्रकार का संगठित अपराध, गुंडागर्दी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के बजाय उन्हें सरकारी संरक्षण दिया जा रहा है। ऐसे में माहराष्ट्र के मकोका की तर्ज पर बनाए गए यूपीकोका का भी ज्यादातर इस्तेमाल गरीब, दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यक वर्गों के दमन के लिए होगा। बसपा ने इस बिल का विरोध करते हुए इसे वापस लेने की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि योगी सरकार बुधवार को विधानसभा में यूपीकोका बिल पेश करेगी। इस बिल का मसौदा सबसे पहले मायावती के शासनकाल 2007 में तैयार किया गया था, लेकिन किन्हीं कारणों से बिल सदन में पेश नहीं हो सका था। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement