मिर्जापुर: महिला पर्यटक के साथ छेड़खानी के मामले में आठ लोग गिरफ्तार

img

मिर्जापुर: फ्रांस के पर्यटकों के समूह और अपने रिश्तेदारों के साथ वाराणसी से मिर्जापुर लखनिया दारी झरने को देखने आई एक भारतीय महिला के साथ छेड़खानी करने और उसकी पिटाई करने के आरोप में प्रदेश पुलिस ने आठ लोगों को गिरफ्तार किया है. दो समूहों के बीच झगड़े में बीच बचाव करने वाले एक फ्रांसीसी नागरिक को भी चोट आयी है. जबकि अहरौरा पुलिस स्टेशन प्रभारी प्रवीन सिंह ने बताया कि किसी विदेशी नागरिक पर कोई हमला नहीं हुआ है.

इस बीच उप्र पुलिस प्रवक्ता ने आज बताया, ''फ्रांस के नागरिक पर कोई हमला नहीं हुआ है लेकिन भारतीयों के दो समूहों के झगड़े में बीच बचाव करने वाले एक फ्रांसीसी नागरिक को चोटें जरूर आयी हैं. उसके हाथ में चोट आई है.'' उन्होंने बताया कि वाराणसी की एक महिला के साथ कुछ लोगों ने छेड़छाड़ की और पिटाई भी की. प्रवक्ता ने कहा कि बाद में महिला ने इस मामले की पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. प्रवक्ता ने बताया कि कल महिला ने पुलिस में दर्ज की गई शिकायत में कहा कि करीब एक दर्जन लोगों ने उसके साथ छेड़खानी की और उसकी पिटाई भी की. महिला ने अपने रिश्तेदारों के साथ भी मार-पीट किये जाने की शिकायत की है.

#Mirzapur foreign tourist attack case: 4 more arrested, total 8 arrests made in the case so far.

— ANI UP (@ANINewsUP) December 11, 2017

#UttarPradesh: Foreign tourists allegedly beaten up in #Mirzapur, police arrest four people pic.twitter.com/3Qk0iHthZN

— ANI UP (@ANINewsUP) December 10, 2017

फतेहपुर सीकरी की घटना
26 अक्‍टूबर को स्विट्जरलैंड के एक जोड़े की यहां से 23 किमी दूर फतेहपुर सीकरी में कुछ स्‍थानीय युवकों ने पत्‍थरों और डंडों से पिटाई की. इस पर विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने नाराजगी जाहिर करते हुए यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगी थी. दरअसल स्विस नागरिक क्‍वैंटीन जेरेमी क्‍लेर्क (24) अपनी गर्लफ्रेंड मेरी ड्रोज (24) के साथ 30 सितंबर को भारत आए थे. जेरेमी ने घटना के बारे में बताते हुए कहा कि आगरा में एक दिन गुजारने के बाद अगले दिन जब वह फतेहपुर सीकरी पहुंचे तो वहां रेलवे स्‍टेशन के पास कुछ युवकों ने पीछा करना शुरू कर दिया. पहले तो उन्‍होंने टिप्‍पणियां कीं, जोकि हमारी समझ में नहीं आईं. उसके बाद उन्‍होंने हमको जबरन रोक लिया ताकि मेरी के साथ वे सेल्‍फी ले सकें. 

जेरेमी ने कहा कि हमने इसका विरोध किया लेकिन वे नहीं माने और हमारा पीछा करते रहे. हमारी फोटो खींचते रहे और मेरी के करीब आने की कोशिश करते रहे. हमें उनकी बातचीत से बस इतना समझ में आया कि वे हमारा नाम पूछ रहे थे और ठहरने की जगह के बारे में पूछ रहे थे. वे हमको प्रताडि़त करते रहे और कहीं और चलने की बात कहने लगे. हमने जब मना कर दिया तो उन्‍होंने पत्‍थरों और डंडों से पिटाई शुरू कर दी. जब मेरी ने प्रतिरोध किया तो उसको भी नहीं बख्‍शा गया. वे हम दोनों पर पत्‍थर फेंक कर मारने लगे. हमें बिल्‍कुल समझ में नहीं आया कि उन्‍होंने ऐसा क्‍यों किया? वे हमारा कोई सामान भी नहीं ले गए? 

इस विदेशी जोड़े ने बताया कि वे जख्‍मी होकर जमीन पर गिर गए और राहगीर अपने मोबाइल फोन से उनका वीडियो बनाने लगे. इस बर्बर घटनाक्रम का नतीजा यह हुआ कि जेरेमी की हड्डी में फ्रैक्‍चर हो गया और मस्तिष्‍क में क्‍लॉट बन गया. इलाज कर रहे डॉक्‍टरों का कहना है कि उसके एक कान में गंभीर चोटें आई हैं और उनको बाद में सुनने में तकलीफ भी हो सकती है. मेरी के भी हाथों में गंभीर चोटें आई हैं.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement