मुझे गाली देने से प्रदूषण कम होता है तो दिल्ली वासी सुबह उठते ही मुझे गाली दें- अरविंद केजरीवाल

img

नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल ने 24 नवंबर 2017 को एक निजी चैनल के कार्यक्रम में दिल्ली में फैली जहरीली धुंध को लेकर कहा कि अगर मुझे गाली देने सरे प्रदूषण कम होता है तो मैं दिल्ली के सभी लोगों से कहूंगा कि सुबह उठकर मुझे गाली दें. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है किा अगस्त, सितंबर, अक्टूबर में प्रदूषण का स्तर बढ़ा नहीं है. दिल्ली प्रदूषण क्रिएट करता है क्योंकि जहरीली धुंध के अलावा ट्रांसपोर्ट, डस्ट, इंडस्ट्रियल का भी प्रदूषण है.

अरविंद केजरीवाल का कहना है कि 28 अक्टूबर से 12 नवंबर 2017 तक पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की वजह से दिल्ली में जहरीली धुंध आ जाती है. दिल्ली में प्रदूषण स्तर बढ़ने की मुख्य वजह पंजाब-हरियाणा के किसानों द्वारा जलाए जा रहे पराली से ही है. उन्होंने कहा कि इस बात का समाधान वहीं मिलेगा न कि दिल्ली में. दिल्ली सरकार अगले एक साल में करीब 2000 नई बसें सड़कों पर उतारने की योजना बना रही है.

इस कार्यक्रम में उन्होंने आगे कहा कि जब वह मनोहर लाल खट्टर से मिलने गए थे तो उन्हें 12 किस्म की मशीनें दिखाई गईं जिनकी मदद से इस समस्या का निजात पाया जा सकता है. इस मशीन की कीमत लगभग ढेड़ लाख रुपए है और इसमें 40 प्रतिशत की सब्सिडी है. अगर इस मशीन की सब्सिडी को 40 से बढ़ाकर 80 प्रतिशत कर दिया जाए और इस मशीन को किसानों में बांट दिया जाए तो इस समस्या का हल आसानी से पाया जा सकता है.

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने प्रदूषण स्तर को देखते हुए दिल्ली में ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू करने की योजना बनाई थी, लेकिन एनजीटी ने महिलाओं और दो पहिया वाहनों को छूट देने से इंकार कर दिया जिस कारण ऑड-ईवन योजना लागू नहीं हो सकी.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement