देश का माहौल ऐसा बन गया है कि या तो एक शख्स को सपोर्ट करो वरना तुम देशद्रोही हो- शत्रुघ्न सिन्हा

img

नई दिल्लीः भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि, सरकार और पार्टी के संचालन को ‘वन मैन आर्मी’ और ‘टू मैन शो’ बताया. शत्रुघ्न ने कहा कि इस सरकार के मंत्री ‘खुशामदीदों की टोली’ है, इनमें से 90 फीसदी को कोई नहीं जानता. पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्न सिन्हा इससे पहले भी कई बार मोदी सरकार की आलोचना कर चुके हैं. एक कार्यक्रम में शामिल हुए शत्रुघ्न ने कहा कि, ‘किसी और ने ‘मन की बात’ पेटेंट करा रखी है. आजकल ऐसा माहौल है कि या तो आप एक शख्स का समर्थन करें या देशद्रोही कहलाने के लिए तैयार रहें.’

बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की अक्सर आलोचना करने वाले शत्रुघ्न सिन्हा माकपा महासचिव सीताराम येचुरी और जदयू के बागी नेता शरद यादव के अलावा विपक्ष के कई शीर्ष नेताओं के साथ मंच साझा करते हुए मोदी सरकार पर जमकर बरसे.शत्रुघ्न सिन्हा ने भ्रष्टाचार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चर्चित नारे ‘ना खाउंगा, ना खाने दूंगा’ पर भी कटाक्ष किया. सिन्हा ने कहा कि, ‘आजकल हो ये रहा हैकि ना जियुंगा, ना जीने दूंगा.’ जदयू पार्टी के बागी सांसद अली अनवर की एक किताब के विमोचन पर पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी नाराजगी के पीछे मंत्री ना बनाए जाने के कारण को भी सिरे से खारिज कर दिया. उन्होनें कहा कि, उनकी कभी ऐसी आकांक्षा नहीं थी.

सिन्हा इतने पर नहीं रुके आगे सिन्हा ने कहा कि, ‘उनमें से 90 फीसदी को कोई नहीं जानता. उन्हें भीड़ में कोई नहीं पहचानेगा. वे खुशामदीदों की टोली हैं. वे वहां कुछ बनाने के लिए नहीं हैं, बस बने रहने की कोशिश में लगे हैं.’ नोटबंदी और जीएसटी जैसे मुद्दों पर शत्रुघ्न सिन्हा के बालने पर उनकी आलोचना करने वालों को भी उन्होनें आड़े हाथों लिया.

उन्होने वित्त मंत्री अरुण जेटली, स्मृति ईरानी और प्रधानमंत्री मोदी पर एक वाक्य में निशाना साधते हुए कहा कि, ‘यदि एक वकील वित्त मंत्री बन सकता है, एक टीवी अदाकारा मानव संसाधन विकास मंत्री बन सकती है और एक चाय वाला…..फिर मैं इन मुद्दों पर क्यों नहीं बोल सकता?’ बता दें कि स्मृति ईरानी पहले मानव संसाधन विकास मंत्री थीं.शत्रुघ्न सिन्हा ने आरोप लगाया, ‘बुद्धिजीवियों की हत्या हो रही है और अब तो जजों को भी मारा जा रहा है.’ भाजपा सांसद ने कहा कि इन मुद्दों को मीडिया में पर्याप्त जगह नहीं मिल रही है, क्योंकि ‘जनतंत्र’ पर ‘धनतंत्र’ हावी हो रहा है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement